- दो दिन में 1.10 मीटर बढ़ गया जलस्तर, चेतावनी बिंदु से साढ़े तीन मीटर नीचे

पिछले दो दिनों में तेजी से बढ़ीं गंगा गुरुवार को स्थिर हो गई हैं. गुरुवार को गंगा का जलस्तर 66.78 मीटर रिकॉर्ड किया गया. चेतावनी बिंदु यानी 70.26 मीटर से यह लगभग साढ़े तीन मीटर ही है. दो दिनों में गंगा का तेज बढ़ाव देख तटवर्ती इलाकों में रहने वालों के दिल दहल गए. हालांकि अगले 24 घंटे गंगा के शांत रहने की उम्मीद केंद्रीय जल आयोग ने जताई है.

हाई एलर्ट पर एनडीआरएफ

गंगा में तेज बढ़ाव को देखते हुए एनडीआरएफ की टीमों को हाई एलर्ट पर रखा गया है. कंट्रोल रूम से 24 घंटे निगरानी की जा रही है. साथ ही जल पुलिस और अन्य टीमें भी गंगा में लगातार गश्त कर रही हैं. नौकाओं के संचालन पर प्रशासन ने पाबंदी लगा रखी है और नाविकों को चेतावनी भी जारी कर दी गई है. बता दें कि खतरे का निशान 71.26 मीटर है जबकि उच्चतम बाढ़ बिंदु 73.90 मीटर 1978 की बाढ़ में रिकॉर्ड किया गया था.