बगैर एनओसी 2ाोद दी गई शहर की सड़कें, हाईकोर्ट रोड डिस्टर्ब, नवाब युसुफ रोड 5ाी 2ाोदा

balaji.kesharwani@inext.co.in

ALLAHABAD: डेवलपमेंट का चेहरा इतना 5ायावह होगा, इलाहाबादियों ने क5ाी सोचा 5ाी नहीं होगा. सीवर लाइन के लिए सड़कों को 2ाोदे जाने से पूरा शहर धूल और जाम का कहर झेल रहा है. यह दिक्कत तो चल रही थी, इस बीच बुधवार को उत्तर रेलवे ने फाफामऊ-इलाहाबाद रेलवे लाइन की डबलिंग का काम शुरू किया. इसके लिए सीएमपी डॉट पुल से आवगमन बंद कर दिया, इसके बाद तो जो जहां था वहीं रुक गया.

प्लानिंग के तहत नहीं किया काम

गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई, सेतु निगम के साथ ही रेलवे के ठेकेदारों ने मनमाने तरीके से काम शुरू कराकर पूरे शहर को चारों तरफ से 4लॉक कर दिया. इसका कारण ये है कि किस काम को कब और कैसे कराया जाए ताकि लोग डिस्टर्ब न हों, इसे लेकर एडमिनिस्ट्रेशन अधिकारियों ने कोई प्लान ही नहीं बनाया. ऐसे में वि5ागों ने अपनी सुविधा अनुसार चारों तरफ एक साथ काम शुरू करा दिया. शहर के हर दिशा में डेवलपमेंट वर्क से पूरे शहर का आवागमन थम गया. लोग पूरे दिन जाम से जूझते रहे और अधिकारियों को कोसते रहे. जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने स5ाी वि5ाग के अधिकारियों को आदेश दिया था कि बगैर परमिशन शहर की कोई सड़क नहीं 2ाोदी जाएगी. मु2य सड़कें डिस्टर्ब नहीं की जाएंगी. लेकिन आदेश का 5ाी वि5ागों पर कोई असर दि2ाई नहीं दे रहा है.

एक पहले से 4लाक, दूसरा 5ाी 2ाोदा

अलग-अलग वि5ागों द्वारा कराए जा रहे काम में तालमेल न होने के कारण ही पहले से ही 4लाक हाई कोर्ट रोड के बगल में स्थित नवाब युसुफ रोड को 5ाी पिछली रात 2ाोद दिया गया. इसकी वजह से दो लेन की सड़क का ट्रैफिक लोड एक लेन पर आ गया, नतीजा इलाका जाम के झाम में फंस गया.

हरिकेश चौरसिया, नगर आयुक्त

हमसे कोई मतलब नहीं है

शहर में चारों तरफ हो रही 2ाोदाई से ट्रैफिक व्यवस्था ध्वस्त है, नगर निगम 1या कर रहा है?

नगर आयुक्त: हम लोगों से कोई मतलब नहीं है, गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई ही सारे काम करा रहा है.

आपसे कोई मतलब नहीं है?

नगर आयुक्त: अब दे2ोंगे तो वही. डायरे1ट मॉनिटर हो रहा है. हालांकि हम लोगों ने लि2ा है, डीएम साहब ने लि2ा है. मंडलायु1त ने रेग्युलर मीटिंग की है. कुछ फर्क आया है. लेकिन इतना अधिक 2ाोदा गया है कि रीस्टोर करने में काफी समय लगेगा. गंगा प्रदूषण के जीएम को बुलवा कर कहा है कि जितना ड्रेन बनाया है, उसका घरेलू कने1शन कर लें. उसके बाद आगे काम बढ़ाया जाए.

कैसे काम होगा?

नगर आयुक्त: जीएम गंगा प्रदूषण, ए1सईएन, एई-जेई और ठेकेदार व ट्रैफिक पुलिस के साथ मीटिंग कर प्लान बनाया जाए त5ाी समस्या का समाधान होगा.

कुलदीप सिंह, एसपी ट्रैफिक

हम 1या करें, एक तरफ सुधारते हैं तो दूसरी ओर 2ाोद देते हैं: एसपी ट्रैफिक

शहर को बुरी स्थिति से निजात कब मिलेगी?

एसपी ट्रैफिक: इस समय शहर के साथ ही ट्रैफिक पुलिस की स्थिति 5ाी बुरी है. कर कोई रहा है और 5ारना ट्रैफिक पुलिस को पड़ रहा है. गालियां हमें 2ानी पड़ रही हैं. सुबह चार घंटे तक सोहबतियाबाग डॉट पुल पर 2ाुद 2ाड़ा रहा. इसी बीच जानसेनगंज और नवाब युसुफ रोड पर लगातार जाम की समस्या के बावजूद नई जगह रोड 2ाोद दी गई. इससे जिन इलाकों को हम पटरी पर ले आए थे वे 5ाी डिस्टर्ब हो गए. हम 1या करें, काम को लेकर कोई प्लानिंग ही नहीं है, जिसे जहां मर्जी वहीं 2ाोद दे रहा है. मेरे पास 5ाी लिमिटेड कर्मचारी हैं, हम 5ाी इंसान हैं. हाल ये है कि जहां सुबह हम ट्रैफिक को लेकर प्लान बनाते हैं, वहीं रात में सड़क 2ाोद दी जाती है, आ2िार हम कैसे स्मूथ ट्रैफिक के प्लान पर काम करें.

आ2िार ये काम किसके परमिशन से हो रहे हैं? काम शुरू करने से पहले कोई प्लानिंग तो बनी होगी?

एसपी ट्रैफिक: स5ाी वि5ागों पर कुं5ा मेला के टार्गेट का प्रेशर है. काम को माघ मेला के पहले अधिक से अधिक पूरा करना है. 1योंकि माघ मेला के दौरान काम नहीं होगा. इसलिए सब जल्दी मचाएं हैं. रेलवे ने 5ाी माघ मेला से पहले कुं5ा मेला की तैयारी को लेकर काम शुरू कराया है.

चारों तरफ रोड बाधित है, जाम रोज नहीं बल्कि लगातार की स्थिति है, ऐसे में आपके संसाधन व्यवस्था बनाने में कितने सक्षम हैं?

एसपी ट्रैफिक: फिलहाल तो स5ाी संसाधन फेल हैं. पूरा वि5ाग लग गया है, इसके बाद 5ाी ट्रैफिक कंट्रोल नहीं हो पा रही है. सीएमपी डॉट पुल बंद होने से सोहबतिया बाग की स्थिति सबसे अधिक 2ाराब है. समस्या को दे2ाते हुए अधिकारियों से मैन पॉवर बढ़ाने की मांग की गई है. फिलहाल कुछ दिनों तक शहर की यही स्थिति रहने वाली है.

इन तीनों को एक साथ बॉ1स बनाएं

डीएम से नहीं हो पाई बात

डीएम सुहास एलवाई के सीयूजी नंबर पर कॉल की गई, लेकिन उनका मोबाइल नंबर लगातार स्वीच ऑफ बताता रहा.

कमिश्नर हाईकोर्ट में रहे व्यस्त

शाम करीब 5.15 बजे कमिश्नर डा. आशीष कुमार गोयल के मोबाइल पर कॉल की गई. पीए ने कॉल रिसीव की और कहा, साहब हाईकोर्ट में हैं.

जीएम गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई का मोबाइल 5ाी बंद

जीएम गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई अजेय रस्तोगी के मोबाइल पर कॉल की गई, लेकिन उनका मोबाइल नंबर 5ाी लगातार स्वीच ऑफ बताता रहा.