बेडरोल का शुल्क भी बढ़ाए जाने की तैयारी
नई दिल्ली (पीटीआर्इ) । भारतीय रेलवे गरीब रथ ट्रेनों के किराये में बेडरोल का शुल्क शामिल करने की तैयारी कर रही है। अब तक गरीब रथ में बेडरोल का किराया नहीं लिया जाता है। एेसे में साफ है बेडरोल का किराया टिकट किराए में जुड़ने से गरीब रथ की सभी ट्रेनों की एसी बोगी में सफर करना पहले से महंगा हो सकता है। खास बात तो यह है कि रेलवे बेडरोल शुल्क को भी बढ़ाने पर विचार कर रहा है। बीते करीब एक दशक से ज्यादा का समय हो गया है यह किराया महज 25 रुपये है। इस संबंध में रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि बेडरोल के बेहतर रखरखाव को देखते हुए अन्य ट्रेनों में भी लागू होने की संभावना है। गरीब रथ ट्रेनों की तरह, अन्य ट्रेनों में भी पिछले एक दशक में बेडरोल की कीमतों में संशोधन नहीं किया गया है।

बेडरोल शुल्क में बढ़ोतरी क्यों नहीं हो रही

हाल ही में पुनर्विचार उपनियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (डीकैग) ने सवाल उठाया था कि गरीब रथ के बेडरोल शुल्क में बढ़ोतरी क्यों नहीं हो रही है। उसने एक नोट जारी करते हुए  बोडरोल का शुल्क बढ़ाने आैर उस शुल्क को ट्रेन किराये में ही शामिल करने का सुझाव दिया है। एक रेल अधिकारी का कहना है किराया हमेशा एक जैसा नहीं रहता है। गरीब रथ ट्रेनों के बेडरोल शुल्क की समीक्षा होगी और फिर अगले छह महीनों में टिकट की कीमत में उन्हें शामिल किया जाएगा। वर्तमान में, रेलवे अपने सभी वातानुकूलित कोचों में बेडरोल किट की आपूर्ति करता है और इसका 25 रुपये शुल्क टिकट किराए में शामिल है। हालांकि, यह गरीब रथ और दुरंतो ट्रेनों के लिए नहीं है। यहां अपनी जरूरत के मुताबिक लोग टिकट खरीदते समय किट बुक कर सकते हैं।

जानें कैसे 'गरीब रथ' एक्‍सप्रेस भूल गई रास्‍ता, टला बड़ा हादसा

स्पीड बढ़ाने के लिए पांच घंटे का रेल जाम

Business News inextlive from Business News Desk