- आवासीय इलाकों में धड़ल्ले से हो रही गैस रिफिलिंग

- गैस ऐजेंसी संचालकों की सरपरस्ती में चल रहा अवैध कारोबार

आगरा. शहर से लेकर देहात तक एलपीजी गैस सिलेंडरों से रिफलिंग का काम बड़े पैमाने पर किया जा रहा है. बुधवार को एत्माद्दौला क्षेत्र में आवासीय क्षेत्र में एलपीजी गैस सिलेंडर से रिफलिंग का वीडियो वायरल हो गया. इसमें गैस ऐजेंसी का निजी ऐजेंट ड्रेस पहले रिफलिंग करते हुए नजर आ रहा है. आपको बता दें कि पिछले दिनों इरादतनगर क्षेत्र के एक गांव में गैस सिलेंडर की लीकेज से विस्फोट हो गया था. इसमें चार लोगों की जान चली गई थी. बावजूद इसके जिम्मदारों का इस ओर कोई ध्यान नहीं है.

गैस ऐजेंसी संचालकों की सरपरस्ती में किया जाता है अवैध कारोबार

शहर में गैस एजेंसी संचालकों और कर्मचारियों की सरपरस्ती में अवैध कारोबार किया जाता है. ऐजेंसी के हॉकर ऐजेंट गैस एजेंसी से एलपीजी गैस सिलेंडर लेकर मौका देखकर खाली सिलेंडर में गैस डाल लेते हैं. दो-चार सिलेंडरों से एक-दो किलोग्राम एलपीजी गैस निकालकर खाली सिलेंडर को भरकर बेच देते हैं. सिलेंडर की सील तोड़कर उसमें पाइप लगाकर पानी डाल कर वजन पूरा कर देते हैं. विगत महीने 18 फरवरी को पुलिस ने छापेमारी कर एत्माद्दौला में गैस रिफलिंग करते हुए दबोचा था.

गैस रिफिलिंग से होती लीकेज होते हैं हादसे

एलपीजी गैस रिफलिंग करने से सिलेंडरों की सील तोड़ी जाती है. इसके बाद सील लगाई जाती है.सील टूटने के बाद गैस तो कम हो ही जाती है, साथ ही लीकेज भी शुरु हो जाती है. इससे हादसे की आशंका प्रबल हो जाती है. अभी 24 जुलाई को इरातनगर के डाढ़की में लीकेज गैस सिलेंडर फटने से उपभोक्ता का घर फट गया था. इसमें चार लोगों की मौत हो गई थी. आठ से ज्यादा घायल हो गए थे. इसके अलावा 24 मार्च को बरहन क्षेत्र में गैस रिफलिंग के दौरान आग लग गई थी. इसमें आठ लोग झुलस गए थे.