नई दिल्ली (पीटीआई)। भारत और पाकिस्तान के दो पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर और शाहिद अफरीदी एक बार फिर आमने-सामने आ गए। अफरीदी ने हाल ही में अपनी ऑटोबाॅयोग्राॅफी 'गेम चेंजर' लाॅन्च की है जिसमें उन्होंने कई बड़ी-बड़ी बातें लिखीं। इसी कड़ी का एक हिस्सा है अफरीदी बनाम गंभीर की लड़ाई। पाक के दिग्गज ऑलराउंडर रहे अफरीदी ने अपनी किताब में गंभीर को सनकी और सबसे खराब बताया है। जिसके बाद गौतम ने अफरीदी को ट्विटर पर टैग करते हुए मनोचिकित्सक से इलाज कराने की सलाह दे डाली।

गंभीर के लिए अफरीदी ने लिखी कड़वी बात
पूर्व पाक खिलाड़ी अफरीदी ने अपनी बुक में गंभीर के लिए लिखा, 'कुछ लड़ाईंया पर्सनल तो कुछ प्रोफेशनल होती हैं। मगर गंभीर का केस बिल्कुल अलग है। उसके अंदर एटीट्यूड की प्राॅब्लम है। वह ऐसा इंसान है जिसकी कोई पर्सनैलिटी नहीं है। क्रिकेट में उनकी कोई पहचान नहीं। मुझे नहीं लगता कि गंभीर के नाम कोई रिकाॅर्ड भी होगा सिवाए एटीट्यूड के।' अफरीदी की ये किताब सामने आने के बाद गंभीर भी चुप नहीं बैठने वाले थे।

गंभीर ने कहा, भारत आओ कराएंगे इलाज
भारत के बाएं हाथ के ओपनर बल्लेगाज रहे गंभीर ने अफरीदी को ट्विटर पर करारा जवाब दिया। गंभीर ने ट्वीट किया, 'तुम अद्भुत हो अफरीदी। फिर भी हम भारतीय पाकिस्तानियों को मेडिकल वीजा देते हैं। मैं व्यक्तिगत रूप से तुम्हें मनोचिकित्सक के पास ले चलूंगा।' इस ट्वीट में गंभीर ने अफरीदी को भी टैग किया। बता दें गौतम और अफरीदी के बीच मैदान और बाहर जमकर बहस हुई है।


एक-दूसरे को दी मां-बहन की गाली

अफरीदी ने अपनी बुक में उस घटना का भी जिक्र किया है जब ये दोनों एक-दूसरे को मां-बहन की गाली दे बैठे थे। अफरीदी लिखते हैं, 'मुझे याद है 2007 एशिया कप (अफरीदी इसे एशिया कप कह रहे जबकि वो कानपुर में खेला गया वनडे मैच था) में गंभीर के रनिंग के दौरान मेरी तीखी बहस हुई थी। जब वह अपना रन पूरा करने के लिए दौड़ा तो मुझसे टकरा गया था। इसके बाद हम दोनों के बीच नोंक-झोंक होने लगी तब अंपायर ने आकर मामला सुलझाया। मगर इसी मैच में बाद में हमने एक-दूसरे की परिवारों की महिलाओं को लेकर अभद्र टिप्पणी की।'

पकड़ा गया अफरीदी का झूठ

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी की बुक सामने आने के बाद कई विवाद हो रहे। गंभीर के साथ लड़ाई के अलावा अफरीदी ने अपनी उम्र को लेकर भी बड़ा रहस्य खोला। अफरीदी के मुताबिक, उनका जन्म 1975 में हुआ था ना कि 1980, जोकि उनका अफिशल डाटा है। यानी कि अफरीदी ने पांच साल उम्र कम करके इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा।

23 साल बाद पकड़ा गया शाहिद अफरीदी का झूठ, ICC को गुमराह कर बनाया था विश्व रिकाॅर्ड

IPL में खूब धमाल मचा रहा नया 'विराट कोहली', उम्र है क्रिस गेल से आधी

सबसे कम उम्र में वनडे शतक लगाने का रिकाॅर्ड
इस लिहाज से देखें तो अफरीदी के नाम जो सबसे कम उम्र में वनडे शतक लगाने का रिकाॅर्ड दर्ज है, असल में वो झूठ है। क्योंकि आंकड़ों में अफरीदी की उम्र उस वक्त 16  साल थी जबकि असल में वो 21 साल के थे। इस बारे में अफरीदी अपनी आत्मकथा में लिखते हैं, 'तब मैं सिर्फ 19 साल था, 16 साल का नहीं जैसा कि दावा किया गया है। मेरा जन्म 1975 में हुआ है लेकिन अधिकारियों ने मेरी उम्र गलत लिखी।' वैसे अफरीदी की ये बात भी भ्रम पैदा करती है क्योंकि वह सही उम्र के हिसाब से भी 1996 में 21 साल के होते, न कि 19

Cricket News inextlive from Cricket News Desk