देशभर में होगा ट्रायल, 40 खिलाड़ी भेजे जाएंगे आस्ट्रेलिया

Meerut : टीम इंडिया के ओपनर रहे एवं अर्जुन अवार्डी गौतम गंभीर क्रिकेट की नई प्रतिभाओं को तराशेंगे. इसके लिए फनगेज नामक एक एजेंसी देशभर में 12 से 24 वर्ष के खिलाडि़यों का ट्रायल लेगी. गौतम गंभीर वीडियो एनालिसिस के जरिए नई प्रतिभाओं की खोज करेंगे. अंतिम 40 क्रिकेटरों को आस्ट्रेलिया में कैंप कराया जाएगा. मेरठ में नीलकंठ ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस में इसका रेसीडेंसियल कैंप होगा.

साइंटिफिक कार्यक्रम

नीलकंठ एकेडमी में शुक्रवार को पहुंचे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने बताया कि भारत में पहली बार क्रिकेटरों की तलाश के लिए एक साइंटिफिक कार्यक्रम आयोजित होगा. सभी खिलाडि़यों को रजिस्ट्रेशन कराना होगा. चार-चार ओवर का ट्रायल लिया जाएगा. 13 हाई डेफिनेशन वीडियो बनाकर विशेषज्ञ आकलन करेंगे. चयनित क्रिकेटरों को दस दिन का रेसीडेंसियल कैंप मिलेगा. इसके बाद 40-40 ओवरों का मैच कराएंगे, जिसमें 105 क्रिकेटर चुने जाएंगे.

मेरठ में भी कैंप

आस्ट्रेलिया के पर्थ में 40 क्रिकेटरों को तीन सप्ताह का कैंप दिया जाएगा, जहां तमाम दिग्गज उन्हें क्रिकेट का गुर सिखाएंगे. अन्य क्रिकेटरों को पांच साल की स्पांसरशिप मिलेगी. प्रेसवार्ता में फनगेज एजेंसी के अधिकारियों ने बताया कि रजिस्ट्रेशन फीस 595 और टैक्स समेत 895 रुपये होगी. ट्रायल नई दिल्ली से शुरू होगा. मेरठ में भी दस दिन का कैंप लगेगा. अन्य कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा. गंभीर ने बताया कि यह अनोखा फार्मेट है, जिससे क्रिकेटर निकलकर अंडर-16 से रणजी से लेकर टीम इंडिया तक जगह बना सकेंगे.

-----

खुद पर रखें भरोसा, मिलेगी कामयाबी

अर्जुन अवार्डी क्रिकेटर गौतम गंभीर ने एकेडमी में जुटे खिलाडि़यों के साथ अपने अनुभवों को साझा किया. बताया कि वह सेना में जाना चाहते थे, लेकिन क्रिकेटर बन गए. इसीलिए शहीदों के बच्चों को निश्शुल्क शिक्षा दिलाने के लिए गौतम गंभीर नामक एक फाउंडेशन शुरू किया है. 200 छात्रों की शिक्षा का पूरा खर्च उठाया जाएगा. कहा कि युवा क्रिकेटर खुद पर भरोसा रखें. किसी की नकल न करें. अपने नैसर्गिक खेल को निखारें, सफलता जरूर मिलती है. कार्यक्रम में गौतम गंभीर ने शहीदों के परिजनों को भी सम्मानित किया. नीलकंठ ग्रुप के चेयरमैन ब्रजवीर सिंह, एडीजी प्रशांत कुमार, ग्रुप के सचिव अमर अहलावत, धर्मेद्र भारद्वाज व विशाल जैन समेत कई अन्य उपस्थित हुए.