- 22 मार्च को शहर में मेहमान होंगे जर्मनी के राष्ट्रपति

-सारनाथ, गंगा आरती और बीएचयू भ्रमण का है कार्यक्रम

फ्रांस के राष्ट्रपति के लौटने के बाद अब जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रैंक वाल्टर स्टेनमीयर वाराणसी के अगले विशिष्ट अतिथि होंगे. 22 मार्च को जर्मन राष्ट्रपति बनारस में सारनाथ संग्रहालय व बीएचयू का भ्रमण करने के साथ ही शाम को गंगा आरती भी देखेंगे. उनके स्वागत के लिए कोई केंद्रीय मंत्री या उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी आ सकते हैं. इसे लेकर वाराणसी जिला प्रशासन एक बार फिर तैयारियों में जुट गया है.

देखेंगे महात्मा बुद्ध की अस्थियां

जर्मन राष्ट्रपति 22 मार्च के प्रस्तावित अपने कार्यक्रम में सारनाथ के बौद्ध मंदिर में रखीं महात्मा बुद्ध की अस्थियों के दर्शन करेंगे. इनके अलावा धम्मेख स्तूप, खंडहर परिसर और संग्रहालय में रखी अशोक की लाट और दूसरी ऐतिहासिक चीजें भी देखेंगे. इसके लिए संग्रहालय और मंदिर परिसर में रंगाई-पोताई शुरू हो गई है.

जर्मनी की टीम ने किया भ्रमण

पुरातत्व विभाग को अब तक मिले जर्मन राष्ट्रपति के संभावित कार्यक्रमों में दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती और बीएचयू भ्रमण भी शामिल हैं. कार्यक्रम के सिलसिले में जर्मनी की एक टीम कुछ दिनों पहले वाराणसी आकर कार्यक्रम स्थलों का भ्रमण भी कर चुकी है. टीम ने पुरातत्व विभाग के अधिकारियों से मुलाकात भी की.

स्वागत में जुटेंगे कई मंत्री

जर्मन राष्ट्रपति के स्वागत के लिए शहर में कई केंद्रीय मंत्री और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आने की भी उम्मीद है. इसके मद्देनजर प्रशासन ने 22 मार्च के दौरे की तैयारियां भी शुरू कर दी हैं.

वर्जन

जिला प्रशासन से मिली सूचना के आधार पर जर्मनी के राष्ट्रपति के आगमन की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. इस सिलसिले में जर्मन अधिकारियों की एक टीम भी आई थी.

एनके सिन्हा, अधीक्षण अधिकारी, पुरातत्व विभाग