23 सितंबर से बनेंगे आयुष्मान योजना के कार्ड

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: केंद्र सरकार की आयुष्मान योजना की लांचिंग 23 सितंबर से होने जा रही है. लेकिन, सबसे बड़ा सवाल है कि लाभार्थियों के कार्ड कैसे बनेंगे? इसका साल्यूशन हम बताने जा रहे हैं. योजना के पैनल में शामिल तमाम सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल में तत्काल यह कार्ड हैंड ओवर किए जाएंगे. बस लाभार्थियों को अपना पहचान पत्र दिखाना होगा.

ढाई लाख परिवारों को मिलेगा कार्ड

जिले में आयुष्मान योजना के ढाई लाख लाभार्थी परिवारों को गोल्डन कार्ड मुहैया कराया जाना है. 23 सितंबर को योजना की लांचिंग होने के बाद लाभार्थियों को हॉस्पिटल में मौजूद आरोग्य मित्र को अपनी पहचान पत्र दिखाना होगा. इससे तय होगा कि व्यक्ति का नाम सूची में दर्ज है या नही. इसके बाद उसे तत्काल गोल्डन कार्ड दिया जाएगा.

जरूरी नही आधार, चलेगा पैन कार्ड

सरकार ने लाभार्थियों की पहचान के लिए आधार कार्ड को मेंडेटरी नही किया है. इसकी जगह काउंटर पर पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, किसान कार्ड, वोटर कार्ड आदि भी दिखाया जा सकता है. आरोग्य मित्र को इससे पहचान की पुष्टि करनी होगी. जबकि प्राइवेट हॉस्पिटल में संभवत: वहां के स्टाफ को पहचान की पुष्टि और कार्ड बनाने की जिम्मेदारी दी जानी है. इस समय जिले के 45 प्राइवेट हॉस्पिटल्स को पैनल में शामिल किया गया है.

एक नजर

आयुष्मान योजना में एक परिवार को साल में पांच लाख तक का निशुल्क इलाज मुहैया होगा.

इस योजना में परिवार में शामिल सदस्यों के कम ज्यादा होने से कोई फर्क नही पड़ेगा.

2011 की जनगणना के आधार पर लाभार्थी परिवारों को सूची में शामिल किया गया है.

उनका चयन सामाजिक आर्थिक विषमता के आधार पर किया गया है.

नए परिवारों को शामिल करने के लिए सर्वे किया जा रहा है.

गोल्डन कार्ड प्राप्त करने में लाभार्थियों को कोई दिक्कत नही होगी. हमारी ओर से तैयारी चल रही है. उन्हे केवल अपना पहचान पत्र ही दिखाना होगा.

डॉ. एके तिवारी,

प्रभारी अधिकारी आयुष्मान योजना