एक्सक्लूसिव

-परिवहन निगम का दिवाली तोहफा, त्योहार के दौरान यात्रियों की सुविधा के लिए चलाई जाएंगी यह बसें

-एसी स्लीपर बसों का किराया वोल्वो व स्कैनिया बसों से होगा कम, 9 घंटे में पहुंचाएगी कानपुर से दिल्ली

kanpur@inext.co.in

kanpur. दिवाली के मौके पर परिवहन निगम कानपुराइट्स को बड़ा तोहफा देने जा रहा है. अब कानपुराइट्स कानपुर से दिल्ली का सफर एसी स्लीपर बसों में कर सकेंगे. जिसका किराया स्कैनिया व वोल्वो बसों से कम लेकिन जनरथ बसों से थोड़ा अधिक होगा. प्रतिदिन एक बस दिल्ली से कानपुर व एक बस कानपुर से दिल्ली चलेगी.

1057 रुपए होगा किराया

परिवहन निगम कानपुर रीजन के आरएम अतुल जैन ने बताया कि मंडे को लखनऊ में हुई बैठक में इन स्लीपर बसों का किराया भी निर्धारित कर दिया गया है. यह बस आठ से नौ घंटे में कानपुर से दिल्ली पहुंचाएगी. अधिकारियों के मुताबिक कानपुर से दिल्ली व दिल्ली से कानपुर चलने वाली स्लीपर बसों का संभावित किराया 1057 रुपए होगा. वहीं जनरथ टू बाई टू सीटर का कानपुर से दिल्ली का किराया 846 रुपए है.

प्राइवेट ट्रैवल्स एजेंसियां पड़ेगी भारी

परिवहन निगम अभी तक स्लीपर बस की सेवा नहीं मुहैया कराता था. वहीं कानपुर की एक दर्जन से अधिक प्राइवेट टै्रवल्स एजेंसियां दिल्ली समेत कई रूटों पर सालों से स्लीपर बस सेवा दे रही हैं. जिनका किराया परिवहन निगम की स्लीपर बसों के तय किए गए किराए से कुछ कम है. इस स्थिति में सवाल यह उठता है कि प्राइवेट ट्रैवल्स एजेंसी क्या परिवहन निगम की इस सेवा को सफल होने देंगे.

--------------------------

30 जनरथ बसें प्रतिदिन चलती कानपुर से

2 हजार यात्री प्रतिदिन करते इन बसों में सफर

10 एसी बसें लखनऊ से वाया कानपुर दिल्ली चलती

''प्रथम चरण में कानपुर से दिल्ली के बीच में दो स्लीपर बसों की सेवा शुरू की जा रही है. योजना सफल होने पर बसों की संख्या बढ़ाई जा सकती है.''

अतुल जैन, आरएम, कानपुर रीजन परिवहन निगम

------------------

वर्जन

दिवाली और छठ के दौरान यात्रियों का लोड बहुत बढ़ जाता है. खासकर दिल्ली रूट पर तो न ट्रेन और न बसों में जगह मिलती है. ऐसे में रोडवेज की ओर से यह अच्छा कदम उठाया गया है. यात्रियों को इसका फायदा मिलेगा.

--

दिल्ली के लिए प्राइवेट एजेंसियों की एसी स्लीपर बस सेवा तो पहले से चल रही थी. लेकिन रोडवेज की ओर भी यह सेवा शुरू करने से यात्रियों को काफी राहत मिलेगी. दिवाली के मौके पर लोग आराम से सफर कर सकेंगे.

--

दिल्ली के लिए एसी स्लीपर बस सर्विस तो अच्छा कदम है लेकिन मुझे लगता है कि इसका किराया थोड़ा अधिक है. रोडवेज अधिकारियों को इस बारे में फिर से विचार करना होगा. क्योंकि प्राइवेट बसों का किराया भी कम है.

कॉलिंग: क्या आपको लगता है कि रोडवेज की एसी स्लीपर बस सेवा सफल हो पाएगी. क्योंकि इसका किराया पहले से चल रही प्राइवेट ट्रैवेल्स की बसों के किराए से ज्यादा है. अपनी राय शेयर कीजिए.