तीनों सदमे में थ्‍ो
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, हेमंत चटवानी, उनकी पत्नी रजनी उर्फ कांता (45 साल) और बेटी दीक्षा (21 साल) कोटा में किराये पर रह रहते थे। इनकी बेटी की दीक्षा की शादी करीब 3 साल पहले जयपुर के मालवीय नगर इलाके में रहने वाले कमल से हुई थी, लेकिन कमल का परिवार लगातार इस शादी को टाल रहा था। जब सगाई तय हुई तब कमल इंजीनियरिंग कर रहा था और अब उसकी चेन्नई में अच्छी नौकरी लग गई। ऐसे में अभी हाल ही में 30 दिसंबर को कमल के परिवार ने शादी से इन्कार कर सगाई तोडऩे की बात कही। इस बात को सुनकर हेमंत चटवानी, उनकी पत्नी रजनी उर्फ कांता और बेटी दीक्षा तीनो सकते में आ गए।

धारा 306 के तहत
इसके बाद से इन तीनों ने कल आदित्य आवास इलाके स्थित अपने घर में जहर खाकर आत्महत्या कर ली। वहीं इस पूरे मामले में हेमंत के पिता सुरेन्द्र चटवानी ने मंगेतर कमल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 306 के तहत एक मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। सुरेन्‍द्र का कहना है कि इतने लंबे समय से तय शादी अचानक से टूट जाने से हेमंत काफी टूट गया। बहू और पोती भी सदमे में आ गए थे, लेकिन वह इतना बड़ा कदम उठा लेंगे इस बात को किसी को भी आभास नहीं था।

inextlive from India News Desk

National News inextlive from India News Desk