BAREILLY। शील चौराहे पर वेडनसडे को तीन साहसी बेटियों ने मनचलों को सबक क्या सिखाया, दूसरी लड़कियां भी उनसे प्रेरित होकर छेड़छाड़ के खिलाफ उठ खड़ी हुई. थर्सडे को सिविल लाइंस एरिया में ई-रिक्शा से जा रही एक लड़की की फोटो सामने बैठा युवक स्मार्ट फोन से बनाने लगा. लड़की को शक हुआ, तो उसने न सिर्फ विरोध किया. बल्कि, युवक की धुनाई कर दी. तो गांधी उद्यान में चोरी छिपे फोटो क्लिक कर रहे तीन नाबालिग लड़कों को दो छात्राओं ने पुलिस के हवाले कर दिया. वहीं नकटिया में भी एक छात्रा ने हिम्मत दिखाकर छेड़छाड़ के आरोपी को पुलिस के हवाले करा दिया.

केस 1----------

बार-बार फोटो खींचने पर मचाया शोर

बड़ा बाजार की रहने वाली छात्रा, रामपुर गार्डन कोचिंग जाती है. थर्सडे सुबह वह बड़ा बाजार से ई-रिक्शा में सवार हुई थी. जैसे ही ई-रिक्शा डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल के सामने पहुंचा तो उसमें एक सवारी बैठ गई. छात्रा का आरोप है कि कुछ दूर ई-रिक्शा चलते ही शख्स ने स्मार्टफोन से उसकी फोटो खींचना चाहा. फ्लैश चलने पर उसे पता चला लेकिन पहली बार उसने इग्नोर कर दिया. जब बार-बार फोटो खींचना शुरू किया तो उसे गुस्सा आ गया. जैसे ही ई-रिक्शा अयूब खां चौराहा के पास पुलिस चौकी के सामने पहुंचा तो छात्रा ने शोर मचाना शुरू कर दिया और फोटो खींचने वाले की पिटाई शुरू कर दी. छात्रा से छेड़छाड़ की बात सुनकर राहगीरों ने भी शख्स की पिटाई कर दी. उसके बाद मौके पर पुलिस पहुंची और आरोपी को पकड़ लिया.

आरोपी बोला स्मार्टफोन नहीं चलाना आता

आरोपी की पहचान उझानी बदायूं निवासी अनवार के रूप में हुई है. थाने में पहुंचते ही वह हाथ जोड़कर माफी मांगने लगा. वह-बार कह रहा था उसने जानबूझकर फोटो नहीं खींची है. पुलिस ने छात्रा की तहरीर पर सार्वजनिक प्लेस पर अश्लील हरकतें करने की धाराओं एफआईआर दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. अनवार ने बताया कि उसकी सास निशा, डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में एडमिट हैं. उसकी बेटी अपने खाला के घर देवचरा गई थी. रात में बेटी की भी तबीयत खराब हो गई थी, जिसके चलते वह बेटी को लेने जा रहा था. उसके पास उसकी बहू का फोन था. वह स्मार्टफोन चलाना नहीं जानता है. वह साली को फोन लगा रहा था कि तभी गलती से फ्लैश चल गई.

केस 2 -------

कैमरे से खींच रहे थे फोटो

गांधी उद्यान में थर्सडे दोपहर दो मेडिकल स्टूडेंट्स घूमने गई थीं. दोनों पास के प्राइवेट हॉस्पिटल में ट्रेनिंग कर रही हैं. इसी दौरान वहां पर तीन स्टूडेंट्स भी घूमने पहुंचे. उनके हाथ में कैमरा था. वह छात्राओं की बार-बार फोटो खींच रहे थे. पहले तो छात्राओं ने उन्हें इग्नोर किया, लेकिन जब छात्र नहीं मानें तो छात्राओं ने वहां विजिट कर रही पुलिस को बता दिया. जिसके बाद छात्रों को पकड़कर चौकी चौराहा चौकी में लाया गया. जब छात्रों से पूछताछ हुई तो पता चला कि दो छात्र धोबी चौराहा प्रेमनगर और एक छात्र मढ़ीनाथ का रहने वाला है. तीनों दसवीं के छात्र हैं.

किराये पर लेकर आए थे कैमरा

जब छात्र पकड़कर पुलिस चौकी लाए गए तो सभी माफी मांगने लगे. पुलिस ने उनका कैमरा भी ले लिया. हालांकि उन्होंने पहले ही फोटो डिलीट कर दिए थे. पुलिस पूछताछ में पता चला कि तीनों 250 रुपए में कैमरा, संजय नगर से किराये पर लेकर आए थे. पुलिस ने तीनों छात्रों के परिजनों को बुलाया. जब छात्र के परिजन पहुंचे तो उन्होंने अपने बच्चों को जमकर फटकार लगाई. इसके अलावा बच्चों की गलती पर माफी भी मांगी. जिसके बाद छात्राओं ने नाबालिग होने के चलते उनके खिलाफ कार्रवाई से मना कर दिया. इसके बाद पुलिस ने तीनो लड़कों को उनके परिजनों के सुपुर्द कर दिया.

केस 3-------

चाचा को बताकर शोहदे को पकड़वाया

कैंट के नकटिया में 15 वर्षीय छात्रा भी शोहदे से परेशान होकर डरी नहीं बल्कि उसने हिम्मत दिखाई. छात्रा को स्कूल जाते वक्त नाबालिग छात्र छेड़ता था. वेडनसडे को भी स्कूल जाते वक्त उसने छात्रा से छेड़छाड़ की और उसका रास्ता रोक लिया. छात्रा ने यह बात वहां से गुजर रहे अपने चाचा को बताई. जिसके बाद चाचा ने घर पर जाकर बताया. उसके बाद परिजनों ने आरोपी छात्र के घर जाकर शिकायत की तो उसके भाई आरिफ और जावेद ने पिता के साथ मारपीट की. जिसके बाद उन्होंने पुलिस से शिकायत की. पुलिस ने आरोपी नाबालिग छात्र व उसके एक भाई को पकड़ लिया है.