छात्राओं ने घेरा डीएसडब्ल्यू ऑफिस

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: इलाहाबाद विश्वविद्यालय के सरोजनी नायडू छात्रावास की छात्राओं ने हॉस्टल खाली कराने की नोटिस के बाद शुक्रवार को डीन विद्यार्थी कल्याण कार्यालय पर प्रदर्शन किया व तालाबंदी की. इनके साथ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े छात्र भी थे. करीब एक घंटे तक चले प्रदर्शन के बाद डीएसडब्ल्यू प्रो. हर्ष कुमार को सेलेक्शन कमेटी छोड़कर आना पड़ा. काफी देर बाद किसी तरह से मामला शांत हुआ.

पहले 10 जुलाई तक था समय

डीएसडब्ल्यू को दिए गए ज्ञापन में छात्राओं ने कहा है कि सरोजनी नायडू छात्रावास की अधीक्षक ने नोटिस देकर छात्रावास तत्काल खाली करने को कहा है. नोटिस में कहा गया है कि स्नातक अंतिम वर्ष की सभी अन्त:वासी जिन्होंने 10 जुलाई तक अपने कक्ष खाली करके छात्रावास कार्यालय को सूचित नहीं किया है. वे 15 जुलाई तक अवश्य खाली कर दें. अन्यथा प्रॉक्टर की टीम हास्टल खाली करवाएगी.

'लड़कों से तो नहीं कराया गया'

उधर, छात्राओं का कहना है कि यदि वे परास्नातक कक्षाओं की मेरिट में नहीं रहेंगी तो छात्रावास खुद से खाली कर देंगी. तब तक छात्राओं ने छात्रावास न खाली कराने की मांग की. छात्राओं का कहना है कि वार्डन उनपर लगातार दबाव बना रही हैं. छात्राओं का कहना है कि जब छात्रों से छात्रावास खाली नहीं कराए गए तो छात्राओं से क्यों खाली कराया जा रहा है. छात्राओं के साथ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विभाग सगठन मंत्री अंशुल विद्यार्थी, सूरज शुक्ला व शेखर विक्रम सिंह ने भी डीएसडब्ल्यू से वार्ता की.