prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए गोल्डन बाबा को निजी मुचलके पर रविवार को रिहा कर दिया गया. हफ्ते भर पूर्व उनके खिलाफ एक सिपाही ने धमकी देने का केस दारागंज थाने में दर्ज कराया था. आरोप लगाने वाला सिपाही बाबा के साथ बतौर गनर चलता था. कोतवाली कुंभ पुलिस ने शनिवार को उन्हें काली सड़क बाघम्बरी चौराहे से हिरासत में लिया था. पुलिस को आशंका थी कि शाही स्नान के दौरान बाबा बखेड़ा खड़ा कर सकते हैं. हालांकि मुचलके पर रिहा किए जाने के बाद पुलिस उन पर पैनी नजर रखे हुए हैं.

बाबा को लेकर आशंकित है पुलिस
जूना अखाड़े के महंत गोल्डन बाबा अपने लिबास के कारण हमेशा सुर्खियों में रहते हैं. कुंभ मेला में पहुंचे गोल्डन बाबा की सुरक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन काफी चौकन्ना था. लाखों के वेशकीमती सोने के आभूषण पहनने वाले गोल्डन बाबा की सुरक्षा में एक सिपाही को बतौर गनर लगाया गया था. अधिकारियों ने सिपाही को सख्त हिदायत दी थी कि उनकी सुरक्षा में कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए. आदेश के अनुपालन में सिपाही उनके साथ बतौर गनर ड्यूटी कर रहा था. करीब हफ्ते भर पूर्व सिपाही ने गोल्डन बाबा के खिलाफ वर्दी उतरवा लेने की धमकी देने व अभद्रता करने की रिपोर्ट दारागंज थाने में दर्ज कराई.

हर कदम पर है पुलिस की नजर
अधिकारियों के मुताबिक पुलिस को आशंका थी कि गोल्डन बाबा शाही स्नान के दिन कुछ बखेड़ा कर सकते हैं. इसी आशंका के मद्देनजर कोतवाली कुंभ पुलिस ने बाबा को शनिवार की रात काली सड़क बाघम्बरी चौराहे से हिरासत में ले लिया. हिरासत में लिए गए गोल्डन बाबा को रात भर थाने में बैठाए रखा गया. पुलिस ने बताया कि सुबह यानी रविवार को उन्हें मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया. वहां निजी मुचलके पर बाबा को मजिस्ट्रेट ने रिहा किए जाने का आदेश दिया. हालांकि शाही स्नान पर बाबा को लेकर आशंकित पुलिस पैनी नजर रखे हुए है.

बाबा के खिलाफ उनके साथ गनर के रूप में चलने वाले सिपाही ने दारागंज थाने में धमकी देने व अभद्रता की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. आशंका थी कि बाबा शाही स्नान पर बखेड़ा कर सकते हैं. उन्हें शनिवार को हिरासत में लिया गया था. मजिस्ट्रेट के आदेश व निजी मुचलके पर रिहा किया गया है. पुलिस उन पर नजर रखे हुए है.
अंजनी कुमार राय, कोतवाली, कुंभ मेला