फालोअप

-चौबेपुर में हुई वारदात का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर किया खुलासा, आरोपी युवक अरेस्ट

-दुष्कर्म के बाद कुदाल से वार कर उतारा था मौत के घाट

चौबेपुर थाना एरिया के रजवारी में शुक्रवार को मीना देवी की हुई हत्या का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर खुलासा कर दिया. रिश्ते में लगने वाले भतीजे प्रदीप ने ही इस वारदात को अंजाम दिया था. पहले मीना देवी से दुष्कर्म किया फिर पकड़े जाने से बचने के लिए घर में रखे कुदाल से मीना पर कई वार कर उसकी हत्या कर दी. इसके बाद खून से सने कपड़े को फेंकने के बाद घटना की मनगढ़ंत कहानी मृतका के पति चौथी को बताई. पुलिस लाइन में मीडिया से रूबरू एसपीआरए अमित कुमार ने बताया कि हत्यारे प्रदीप ने ही महिला के पति को उसकी हत्या होने की सूचना दी थी. लेकिन यह जानकारी देने से पहले उसने अपने कपड़े बदल लिए थे. तफ्तीश के दौरान ही वह पकड़ में आ गया. कड़ाई से पूछताछ की गई तो प्रदीप ने बताया कि वह महिला को चाची कहता था. शुक्रवार की दोपहर महिला का पति बच्चों के साथ प्रतिमा विसर्जन के लिए गया हुआ था. इसी बीच उसे याद आया कि महिला अपने घर में अकेली होगी तो वो उसके पास पहुंचा और शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव बनाने लगा.

भेद न खुले, सुलाया मौत की नींद

पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने कबूल किया कि उसने पहले महिला के साथ दुष्कर्म किया. शोर मचाने लगी तो मुंह में कपड़ा ठूंस दिया. कुकर्म के बाद जब घर से निकलने लगा तो महिला ने अपने साथ हुई इस घटना की जानकारी पति सहित ग्रामीणों को देने की धमकी दी. भेद न खुलने के डर से दोबारा महिला के मुंह में कपड़ा ठूंसकर वहीं पड़ी कुदाल से उसके सिर पर तीन-चार वार कर वापस मूर्ति विसर्जन स्थल पर पहुंच गया. गिरफ्तारी में मुख्य भूमिका सीओ पिंडरा सुरेंद्र नाथ यादव, चौबेपुर थानाध्यक्ष विश्वनाथ प्रताप सिंह ने निभाई.