कानपुर। कैलीफोर्निया अमेरिका में चल रही गूगल की सालाना डेवलपर्स कॉन्‍फ्रेंस Google I/O के दौरान कंपनी ने बताया कि वो Lookout नाम की एक ऐप जल्‍द ही लॉन्‍च करेगी। इस ऐप द्वारा द्रष्टिहीन लोग अपने स्‍मार्टफोन की मदद से आसपास के माहौल, ऑब्जेक्ट, टेक्स्ट और लोगों को महसूस कर सकेंगे। यह ऐप द्रष्टिहीन लोगों की जिंदगी में अहम बदलाव करने वाली है। Lookout की कई बेहतरीन खूबियों के बारे में Google की सेंट्रल एक्सेसिबिलिटी टीम के प्रोडक्‍ट मैनेजर पैट्रिक क्लैरी ने ऑफीशियल ब्‍लॉग पोस्‍ट में कई खुलासे किए हैं।

द्रष्टिहीन अपनी भाषा में आवाज की मदद से पहचान सकेंगे आसपास का माहौल

गूगल Lookout ऐप दुनिया भर के लाखों दृष्टिहीन लोगों को और अधिक स्वतंत्र बनने में काफी मदद करेगी। जिंदगी में दूसरों पर उनकी निर्भरता कम हो जाएगी। ऐसा गूगल का कहना है। कोई द्रष्टिहीन सड़क पर खड़ा हो या भीड़ से भरे किसी हॉल में, यह एंड्रॉयड ऐप उसे आसपास के माहौल, जमीन पर रखी चीजों, दीवार पर टंगी तस्‍वीरों, पोस्‍टर और लोगों के बारे में हर छोटी बड़ी जानकारी देगी। ऐसा करने के लिए ऐप कैमरे से सबकुछ देखकर यूजर के ईयरफोन उसी की अपनी भाषा में सब कुछ बताएगी।

पोस्‍टर या दीवार पर लिखे शब्‍दों को पढ़ सकेंगे आसानी से

cnet.comकी रिपोर्ट के मुताबिक गूगल की लुकआउट ऐप दीवार पर या किसी कागज पर लिखे हुए शब्‍दों को भी पढ़कर सुनाती है। ऐप के डेटाबेस में मौजूद कोई व्‍यक्ति अगर आपके सामने से गुजरे तो यह ऐप आपको बता देगी कि सामने से कौन आ रहा है। गूगल की यह ऐप द्रष्टिहीनों को असली दुनिया के बारे में हर छोटी बड़ी बात कान में सुनाकर समझाने में सक्षम है।


चार मोड में काम करती है यह ऐप

इस्‍तेमाल के लेवल पर यह ऐप चार मोड में काम करती है। होम, वर्क एंड प्ले, स्कैन और एक्‍सपेरीमेंटल। अपनी सुविधा और लोकेशन के मुताबिक द्रष्टिहीन यूजर प्रिफर्ड मोड चुनकर उसका इस्‍तेमाल कर सकते हैं। वर्क मोड लगाने पर यह ऐप उस व्‍यक्ति के ऑफिस का पूरा हाल सुना देगी। यानि कौन सी चीज कहां रखी है और कौन सा व्‍यक्ति कहां और क्‍या कर रहा है।

google की इस ऐप द्वारा द्रष्टिहीन देख सकेंगे ये खूबसूरत दुनिया!

कैसे काम करेगी यह ऐप

यूं तो यह ऐप किसी नॉर्मल एंड्रॉयड फोन पर भी काम कर सकती है, लेकिन द्रष्टिहीनों की सुविधा के लिए पॉकेट में रखी जाने वाली एक खास एंड्रॉयड डिवाइस पर यह ऐप इस्‍तेमाल की जाएगी। इस ऐप के साथ शर्ट के कॉलर या बटन पर लगाया जाने वाला बॉडी कैम और इयरफोन अटैच रहेगा, फिर य‍ह ऐप आसपास सब कुछ देखकर यूजर को उसकी भाषा में समझाकर बताएगी।

बिना इंटरनेट के चलेगी Lookout ऐप

द्रष्टिहीनों के लिए बनाई जाने वाली गूगल Lookout ऐप की सबसे बड़ी खासियत तो यह है कि इसे इस्‍तेमाल करने के लिए इंटरनेट कनेक्‍शन जरूरी नहीं होगा। यानि कि कोई द्रष्टिहीन यूजर बिना नेट के ही कभी भी कहीं भी जिंदगी को आसानी से महसूस कर सकेगा।


यह भी पढ़ें:

Google सबको दे रहा है सचमुच का पर्सनल असिस्‍टेंट! जो आपकी ओर से करेगा मोबाइल कॉल और बातचीत भी

एलर्ट...Whatsapp में घुस आया वायरस मैसेज! क्रैश हो रही ऐप और एंड्रॉयड फोन

अब माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक पर ईमेल से ही कर सकेंगे सारे बिल पेमेंट! नहीं जाना पड़ेगा कहीं और

Technology News inextlive from Technology News Desk