फर्जी खबरों के बाद फर्जी वीडियो पर लगाम लगाने के लिए आगे आया यूट्यूब
सैन फ्रांसिस्को
(आईएएनएस) Google के स्वामित्व वाले दुनिया के सबसे पॉपुलर वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म YouTube ने घोषणा की है कि वह अपने प्लेटफार्म पर फर्जी खबरों को रोकने और हटाने के लिए 25 मिलियन डॉलर खर्च करेगा। फर्जी खबरों के खिलाफ इस लड़ाई में यूट्यूब खासतौर पर ब्रेकिंग न्यूज, Fast और अर्जेंट कवरेज पर ज्यादा फोकस करेगा, क्योंकि आमतौर पर गलत खबरें जल्दबाजी के चक्कर में ही ऑनलाइन हो जाती हैं। यूट्यूब के मुताबिक इस समय उसके पास पूरी दुनिया से 1.8 मिलियन मंथली एक्टिव यूजर्स हैं। फेक न्यूज के खिलाफ यूट्यूब की लड़ाई गूगल न्यूज इनीशिएटिव (GNI) का हिस्सा होगी, जोकि गूगल द्वारा इसी साल मार्च महीने में लांच की गई थी। इस इनिशिएटिव का उद्देश्य था फर्जी खबरों से लड़ने में तमाम मीडिया संस्थानों की मदद करना।


तमाम मीडिया एक्सपर्ट्स को साथ लेकर बनेगा वर्किंग ग्रुप जो लड़ेगा फेक न्यूज के खिलाफ लड़ाई

यूट्यूब के चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर नील मोहन ने अपनी ब्लॉग पोस्ट में बताया है कि हम तमाम बड़े न्यूज़ आर्गेनाइजेशन और मीडिया एक्सपर्ट्स को साथ लेकर एक ऐसा वर्किंग ग्रुप बना रहे हैं जो यूट्यूब के न्यू प्रोडक्ट फीचर्स को विकसित करने और यूजर्स के न्यूज एक्सपीरियंस को बेहतर बनाने में हमारी मदद करेगा। साथ ही यह ग्रुप फेक न्यूज से जुड़े तमाम चैलेंजेस को फेस करने में हमारी मदद भी करेगा। यूट्यूब के इस शुरुआती वर्किंग ग्रुप में वॉक्‍स मीडिया, Jovem Pan और इंडिया टुडे शुरुआती मेंबर्स होंगे। यूट्यूब के चीफ बिज़नेस ऑफिसर रॉबर्ट नाइसिल के मुताबिक हम लगातार और भी नए लोगों को इस ग्रुप में जोड़ने की तैयारी कर रहे हैं।

फेसबुक के बाद youtube भी कूदा फेक न्यूज वॉर में,25 मिलियन डॉलर से ऐसे कसेगा शिकंजा!


विकिपीडिया को देगा अथॉन्टिक वीडियोज के लिंक

इस ब्लॉग पोस्ट के मुताबिक यूट्यूब विकिपीडिया और इनसाइक्लोपीडिया ब्रिटानिका को तमाम ऐसे अथॉन्टिक वीडियोज के लिंक उपलब्ध कराएगा, जन मामलों में पहले से कई विवादित वीडियोज और खबरें चलती रही हों, जैसे मून लैंडिंग आदि। यूट्यूब के मुताबिक हम दुनिया भर के तमाम मीडिया हाउसेस के लिए एक बेहतर वीडियो इको सिस्टम विकसित करना चाहते हैं और इसके लिए हम जनर्लिस्ट कम्युनिटी के साथ मिलकर काम करने को प्रतिबद्ध हैं।

फेसबुक के बाद youtube भी कूदा फेक न्यूज वॉर में,25 मिलियन डॉलर से ऐसे कसेगा शिकंजा!


टॉप न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज फीचर से कसेगा फर्जी न्‍यूज पर शिकंजा
यूट्यूब में फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए टॉप न्यूज़ और ब्रेकिंग न्यूज़ नाम के दो फीचर्स भारत समेत दुनिया के 17 देशों में शुरु किया गया है। यह सेक्शन यूट्यूब के एक अलग शेल्‍फ की तरह काम करेंगे जो कि दुनिया भर से किसी भी तरह की आने वाली ब्रेकिंग न्यूज और टॉप मोस्‍ट न्यूज को अलग से यूट्यूब के होमपेज पर डिस्प्ले करेंगे। यूट्यूब की ब्‍लॉग पोस्ट में यह भी कहा गया है कि हम दुनियाभर के 20 प्रमुख मार्केट में तमाम न्यूज आर्गेनाइजेशन के वीडियो ऑपरेशन और सिस्टम को बेहतर ढंग से डेवलप करने के लिए फंडिंग भी करेंगे।

BSNL की 'Wings' ऐप से कर पाएंगे फ्री कॉलिंग! लाइफ टाइम के लिए देनी होगी बस इतनी सी फीस

माइक्रोसॉफ्ट ने लॉन्च की कम कीमत वाली धासू टैबलेट जिसमें है 4K डिस्प्ले स्क्रीन

कार के बाद स्मार्टफोन के लिए भी आ गए एयरबैग, जो उसे टूटने नहीं देंगे

Technology News inextlive from Technology News Desk