- रोडवेज, आरटीओ और पुलिस ने चलाया अभियान

- दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की खबर का लिया संज्ञान

I impact

GORAKHPUR: रोडवेज बस डिपो से अवैध ढंग से बसों और अन्य वाहनों के संचलन पर पुलिस का डंडा चलेगा. रोडवेज, आरटीओ और पुलिस की टीम रोजाना जांच करके कार्रवाई करेगी. रेलवे स्टेशन के रोडवेज बस डिपो के सामने अवैध ढंग से प्राइवेट वाहनों का संचलन होने के खिलाफ गुरुवार को जमकर कार्रवाई हुई. एसपी सिटी विनय कुमार सिंह, एसपी ट्रैफिक आदित्य प्रकाश वर्मा की अगुवाई में चले अभियान में डग्गामार वाहनों कब्जे में लेकर पुलिस ने आरटीओ को सौंप दिया. अवैध ढंग से चल रही बसों पर जुर्माना लगाने के साथ आरटीओ आगे की प्रक्रिया पूरी करेगा. एसपी सिटी ने बताया कि हर हाल में डग्गामार बसों का संचालन रोका जाएगा. रेलवे स्टेशन के सामने अवैध ढंग से किसी वाहन में सवारी नहीं भरने दी जाएगी.

रेलवे स्टेशन बस डिपो के सामने होती डग्गामारी

एक साल पूर्व शहर के भीतर से डग्गामार बसों को बाहर खदेड़ दिया गया था. उनके लिए शहर से बाहर अलग-अलग जगहों पर स्टॉपेज बनाए गए थे. रोडवेज डिपो के सामने से सवारी भरने में पूरी तरह से रोक लग गई थी. लेकिन हाल के दिनों में डग्गामार बसों का संचालन फिर से शुरू हो गया. हद तो तब हो गई जब रोडवेज बस डिपो के सामने से प्राइवेट बसों में सवारी भरी जाने लगी. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने इस संबंध में खबर प्रकाशित करते हुए रोडवेज के अफसरों का ध्यान आकृष्ट कराया. डग्गामारी रोकने के लिए रोडवेज अधिकारियों ने चेकिंग अभियान भी चलाया. लेकिन तब प्रभावी कार्रवाई नहीं हो सकी. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट में लगातार चले अभियान का संज्ञान लेते हुए रीजनल मैनेजर डीबी सिंह ने कार्रवाई के लिए पुलिस अधिकारियों को पत्र लिखा. गुरुवार को आरटीओ, रोडवेज और पुलिस की कंबाइन टीम बनाकर कार्रवाई की गई. इस दौरान 16 प्राइवेट बसों को पुलिस ने कब्जे में लिया जबकि तीन टेंपो ट्रेवेलर पकड़े गए.

वर्जन

रेलवे बस स्टेशन के सामने अवैध ढंग से वाहनों के संचालन करने की सूचना मिली थी. डग्गामारी रोकने लिए अभियान शुरू कराया गया है. अवैध ढंग से वाहनों का संचालन कराने में किसी पुलिस कर्मचारी की भूमिका सामने आई तो उसके खिलाफ रिपोर्ट तैयार की जाएगी. ऐसे पुलिस कर्मचारियों का निलंबन कराया जाएगा.

- विनय कुमार सिंह, एसपी सिटी