- शहर के बाजारों की समस्याओं को लेकर दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने ऑर्गनाइज कराया ग्रुप डिस्कशन

- अधिकारियों ने दिया नगर निगम से सहयोग का आश्वासन

- सफाई सहित विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से की गई चर्चा

GORAKHPUR: गोलघर शहर का दिल है, सफाई ही नहीं, सार्वजनिक शौचालय, पेयजल व यूरिनल सहित यहां पर सभी सुविधाएं उच्च कोटि की होनी चाहिए. सुविधाएं दुरुस्त करने के साथ ही नगर निगम गोलघर को अतिक्रमण मुक्त करेगा. व्यापारियों व नागरिकों के सहयोग से गोलघर को शहर का आइडियल प्लेस बनाया जाएगा. यह बातें नगर निगम चीफ इंजीनियर सुरेश चंद ने दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की ओर से आयोजित ग्रुप डिस्कशन में कहीं. शहर के सभी मेन मार्केट्स में व्यापारियों की समस्याओं पर सिलसिलेवार रिपोर्ट पब्लिश करने के बाद उस पर चर्चा के लिए ग्रुप डिस्कशन का आयोजन किया गया था. शहर के व्यापारी संगठनों के पदाधिकारियों ने समस्याओं को रखा, समस्याओं की सूची तैयार कर अधिकारियों ने जल्द से जल्द समाधान का आश्वासन दिया. सफाई व्यवस्था में सुधार को स्वीकारने के बाद भी व्यापारियों ने सार्वजनिक शौचालय, यूरिनल, पेयजल, अतिक्रमण की समस्या व खराब सड़कों को दुरुस्त करने की मांग रखी.

भलोटिया मार्केट की बदलेगी तस्वीर

पूर्वाचल सहित बिहार व नेपाल तक दवाओं की सप्लाई करने वाले भलोटिया मार्केट की दु‌र्व्यवस्था से व्यापारियों ने अवगत कराया. मार्केट में सड़क व नाली निर्माण के लिए नगर निगम 50 लाख रुपए का बजट जारी कर चुका है. लेकिन विवाद की वजह से 9 महीनों से निर्माण कार्य में किसी तरह की प्रगति नहीं हो सकी है. व्यापारियों ने बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ खुद भी मार्केट की दशा सुधारने के प्रति गंभीर हैं. चीफ इंजीनियर ने बताया कि निगम की गंभीरता के कारण ही कार्रवाई में तेजी है. विवाद सुलझाने के अलावा अन्य विकल्पों पर भी विचार किया जा रहा है. जल्द ही सकारात्मक फैसले लिए जाएंगे.

बदलेगी मार्केट्स की सूरत

व्यापारियों की मांग पर तय किया गया कि चीफ इंजीनियर सभी लोकल मार्केट का निरीक्षण कर समस्याओं के समाधान का रास्ता तलाश करेंगे. घंटाघर में बंधु सिंह पार्क को दुरुस्त कर सौंदर्यीकरण करना, अतिक्रमण को हटाने की योजना पर भी निगम काम करेगा. साथ ही साहबगंज मार्केट में महीनों से चल रहे नाली निर्माण की समस्या को जानने के लिए भी चीफ इंजीनियर वहां का दौरा करेंगे.

सामने आईं समस्याएं

- मार्केट्स में सार्वजनिक शौचालय, पेयजल, यूरिनल नहीं हैं.

- नगर निगम द्वारा नियमित सफाई नहीं कराई जाती है.

- रास्तों पर अतिक्रमण के कारण जाम की समस्या बढ़ती जा रही है.

- मच्छरों से निपटने के इंतजाम पर्याप्त नहीं हैं.

- भलोटिया मार्केट में सड़क व नाली निर्माण का काम महीनों से लटका है.

- उर्दू बाजार में अतिक्रमण के कारण जाम लग जाता है, पार्किग का भी इंतजाम नहीं है.

- बंधु सिंह पार्क को निगम बेहतर नहीं करवा सकता तो व्यापारियों को सौंप दे.

- शहर की गलियों में तार लटक रहे हैं, कभी भी दुर्घटना हो सकती है.

अधिकारियों ने दिया कार्रवाई का आश्वासन

- बसंतपुर में तार की समस्या के लिए चीफ इंजीनियर ने संबंधित को तुरंत फोन कर ठीक करने को कहा.

- गोलघर को आइडियल प्लेस बनाने के लिए इसे अतिक्रमण मुक्त किया जाएगा, साथ ही सफाई की व्यवस्था भी दुरुस्त की जाएगी.

- नगर स्वास्थ्य अधिकारी ने व्यापारियों को आश्वस्त किया कि नालियों की तल्लीझाड़ सफाई होगी.

- साहबगंज में हो रहे नाले के निर्माण की गति को तेज किया जाएगा.

- चीफ इंजीनियर स्वयं व्यापारिक स्थलों का निरीक्षण कर व्यापारियों की समस्याओं को दूर करेंगे.

- सघन मार्केट के अंदर पब्लिक की सुविधा के लिए यूरिनल बनवाया जाएगा.

- गोलघर में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने को नई योजना तैयार करेगा निगम.

- डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन को पूरे शहर में लागू करवाया जाएगा.

कोट्स

मार्केट में सार्वजनिक शौचालय, यूरिनल बनवाने व अतिक्रमण हटाने को नगर निगम प्रतिबद्ध है. समस्याओं के समाधान के लिए मैं खुद कर्मचारियों के साथ जाऊंगा और मार्केट्स का निरीक्षण करूंगा. व्यापारियों व नागरिकों की सुविधाओं का पूरा ख्याल रखा जाएगा.

सुरेश चंद, चीफ इंजीनियर, नगर निगम

नगर निगम ने सफाई व्यवस्था को काफी बेहतर कर लिया है. व्यापारिक स्थलों के लिए स्पेशल गाडि़यों को चलाया गया है. फरवरी-मार्च से रोस्टर शुरू हो जाएगा, अभियान चलाकर नालियों की तल्लीझाड़ सफाई करवाने के साथ ही कूड़ा कलेक्शन की व्यवस्था को दुरुस्त किया जाएगा.

मुकेश रस्तोगी, नगर स्वास्थ्य अधिकारी

भलोटिया मार्केट पूर्वाचल की सबसे बड़ी दवा मंडी है. इसके बावजूद मार्केट में नाली व सड़क का निर्माण 9 महीनाें से रूका हुआ है. गंदगी के कारण 40 से अधिक व्यापारी बीमार हो चुके हैं. अधिकारियों की पहल के बाद भी सकारात्मक नतीजे नहीं आ रहे हैं.

- योगेन्द्र नाथ दूबे, दवा व्यापारी

भलोटिया मार्केट की व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए कई बार अधिकारियों को अवगत कराया गया. मुख्यमंत्री की पहल के बाद भी लंबे समय से काम रूका हुआ है.

- आलोक चौरसिया, दवा व्यापारी

शहर में मच्छरों का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. सघन आबादी के मार्केट में व्यापारियों को काफी परेशानी हो रही है. निगम की गाडि़यां नजर नहीं आ रही हैं.

संजय सिंघानिया, किराना व्यापारी

बंधु सिंह पार्क की हालत खराब हो चुकी है. पार्किंग का अभाव व अतिक्रमण के कारण कस्टमर्स को काफी परेशानी होती है. निगम पार्क का सौंदर्यीकरण नहीं कर पा रहा तो हम करने को तैयार हैं.

पंकज गोयल, सर्राफा व्यापारी

पार्क के सामने और मंदिर कैंपस में शराब की दुकान चल रही है. नगर निगम के बनाए ई टॉयलेट पर भी अतिक्रमण हो चुका है. सख्त कार्रवाई की आवश्यकता है.

महेश वर्मा, सर्राफा व्यापारी

साहबगंज में 2002 के बाद सड़क नहीं बनी है. मार्केट में नाली निर्माण के लिए 90 लाख का बजट पास हुआ था. लेकिन ठेकेदार की सुस्ती के कारण काम अधर में लटका है.

अनूप अग्रवाल, व्यापारी नेता

साहबगंज मार्केट में कई जगहों पर गड्ढा कर दिया गया है. जिससे दुर्घटना की आशंका बढ़ गई है. सफाई व्यवस्था भी संतोष जनक नहीं है.

कमलेश अग्रवाल, किराना व्यापारी

शहर का दिल होने के बाद भी गोलघर में गंदगी फैली रहती है, सड़कों पर अतिक्रमण बढ़ रहा है, सार्वजनिक शौचालय नहीं हैं. अधिकारियों की उदासीनता के कारण समस्या बढ़ रही है.

रविन्द्र मौर्या, व्यापारी नेता

शाहमारूफ मार्केट में सफाई की बेहतर व्यवस्था और डस्टबिन की जरूरत है. मार्केट में लेडीज कस्टमर्स अधिक आती हैं, यूरिनल की सख्त जरूरत है.

संजय सिंह, कपड़ा व्यापारी