- सरकारी कार्यक्रमों से लापता हुए सदर सांसद

- उपेक्षा का आरोप, न्यौता देने में होती लापरवाही

GORAKHPUR: शहर में आयोजित होने वाले सरकारी कार्यक्रमों में सदर सांसद प्रवीण कुमार निषाद शरीक नहीं हो रहे हैं. सोमवार को गोरखपुर हवाई अड्डा के नए टर्मिनल और नई फ्लाइट के इनॉगरेशन प्रोग्राम में सदर सांसद शामिल नहीं हुए. सदर सांसद का कहना है कि उनको समय से कोई सूचना नहीं दी जाती है. एयरपोर्ट पर आयोजित होने वाले प्रोग्राम की एक दिन पहले जानकारी दी गई. विपक्षी सांसद होने की वजह से शासन-प्रशासन के अफसर उपेक्षा का भाव रखते हैं. प्रभारी अधिकारी प्रोटोकॉल का कहना है कि नियमानुसार सभी माननीय को कार्यक्रमों के संबंध में सूचना भेजी जाती है. एयरपोर्ट के अधिकारियों ने बताया कि मंत्रालय की ओर से सांसद को पहले ही सूचित किया गया था.

एयरपोर्ट के प्रोग्राम में नहीं हुए शामिल

लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के सिंबल पर पहली बार चुनाव लड़े प्रवीण निषाद ने भाजपा के उम्मीदवार को करारी शिकस्त दी थी. गोरक्षपीठ की पारंपरिक सीट माने जानी वाली सदर लोकसभा से उप चुनाव जीतकर परचम लहराया. उनके चुनाव जीतने के बाद से शहर में दर्जनों सरकारी कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है. लेकिन ज्यादातर कार्यक्रमों में सदर सांसद प्रवीण निषाद शामिल नहीं हुए हैं. सोमवार को एयरपोर्ट पर नई टर्मिनल बिल्डिंग और दिल्ली के लिए तीसरी फ्लाइट का इनॉगरेशन सुनिश्चित था. इस कार्यक्रम में केंद्रीय वाणिज्य मंत्री उद्योग एवं नागरिक उड्डयन सुरेश प्रभु, सीएम महंत योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला, प्रदेश के नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल, खलीलाबाद के सांसद शरद त्रिपाठी, जिले के विधायक सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे लेकिन सदर सांसद प्रवीण निषाद कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए.

तवज्जो नहीं देते अधिकारी

शहर में आयोजित होने वाले ज्यादातर सरकारी कार्यक्रमों में सांसद प्रवीण निषाद शामिल नहीं हो रहे हैं. सरकारी प्रोग्राम के दौरान सदर सांसद अपने क्षेत्रीय भ्रमण, जन सभाओं और जनसंपर्क में बिजी रहते हैं. सोमवार को जब एयरपोर्ट पर उद्धाटन कार्यक्रम चल रहा था. तब सदर सांसद जंगल कौडि़या क्षेत्र में जनसंपर्क कर रहे थे. सदर सांसद और उनके समर्थकों का कहना है कि केंद्र और राज्य सरकार के किसी भी प्रोग्राम में उनको तवज्जो नहीं दिया जाता है. किसी भी प्रोग्राम के एक दिन पहले संबंधित विभागों की तरफ से न्यौता भेजा जाता है. ऐसे में किसी कार्यक्रम में शामिल हो पाना संभव नहीं होता है. उधर सांसद का यह भी कहना है कि सरकारी आयोजनों को अधिकारी पार्टी विशेष का कार्यक्रम बना देते हैं. इस वजह से अधिकारी उनको महत्व नहीं देते हैं.

वर्जन

जिले में आयोजित होने वाले हर सरकारी कार्यक्रम की सूचना माननीय सांसद, विधायक को दी जाती है. प्रोग्राम का पूरा ब्यौरा भेजा जाता है. सभी कार्यक्रमों की सूचना सदर सांसद को समय से दी गई थी.

- अजीत कुमार, सिटी मजिस्ट्रेट प्रभारी अधिकारी प्रोटोकॉल

एयरपोर्ट पर आयोजित होने वाले प्रोग्राम के बारे में सदर सांसद को अवगत कराया गया था. मंत्रालय की तरफ से उनके दिल्ली स्थित आवास पर निमंत्रण भेजा गया था. यहां पर हमने खुद उनसे बात करके इन्विटेशन रिसीव कराया था.

- बीएस मीना, डायरेक्टर, एयरपोर्ट अथॉरिटी, गोरखपुर

शहर में आयोजित होने केंद्र और राज्य सरकार के कार्यक्रम की जानकारी मुझे समय से नहीं दी जाती है. शासन-प्रशासन के अधिकारी हमारे साथ उपेक्षात्मक रवैया अपनाते हैं. एयरपोर्ट पर होने वाले कार्यक्रम की जानकारी एक दिन पहले दी गई थी. हर बार ऐसा ही व्यवहार किया जाता है. ऐसे में किसी प्रोग्राम में शामिल हो पाना संभव नहीं होता है.

- प्रवीण कुमार निषाद, सदर सांसद