- चिलुआताल एरिया के ओंकार नगर में हुई थी सनसनीखेज घटना

- प्रेमिका, उसके भाई को जलाने के आरोपी को पुलिस ने किया अरेस्ट

GORAKHPUR: चिलुआताल एरिया के ओंकार नगर महुआतर मोहल्ले में किशोरी, उसके भाई पर मिट्टी का तेल गिराकर जलाने का आरोपी पकड़ा गया. गुरुवार को पुलिस टीम ने स्पो‌र्ट्स कॉलेज चौराहा के पास पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया. उसके खिलाफ 10 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया गया था. एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि किशोरी के दूर के रिश्तेदार का उससे प्रेम संबंध हो गया था. किशोरी के दूरी बनाने पर आरोपी ने उसकी जान लेने का प्रयास किया. हमले के बाद वह दिल्ली भाग गया था.

घटना के बाद दिल्ली भागा आरोपी

31 अगस्त की रात चिलुआताल एरिया के ओंकार नगर, सिक्टौर बाजार में सनसनीखेज वारदात हुई. घर में सो रही किशोरी पर खिड़की के रास्ते मिट्टी का तेल गिराकर उसे जिंदा जलाने का प्रयास किया गया. घटना में किशोरी और उसका भाई झुलस गए. दोनों को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया. किशोरी के साथ हुई घटना के पर्दाफाश के लिए पुलिस ने कई युवकों को उठाया. मोबाइल नंबर की जांच पड़ताल करने पर सामने आया कि घटना के समय उसका एक रिश्तेदार उस इलाके में मौजूद था. सर्विलांस के जरिए पुलिस ने पता लगाया कि कुशीनगर जिले के पेकौली निवासी कमलेश शर्मा वहां आता-जाता था. घटना के बाद से वह दिल्ली चला गया था.

दो माह पूर्व शादी में हुई थी मुलाकात

गुरुवार को आरोपी की लोकेशन स्पो‌र्ट्स कॉलेज चौराहे पर मिली. इंस्पेक्टर चिलुआताल राजू सिंह, एसएसआई एसएन सिंह, एसआई नितिन रघुनाथ श्रीवास्तव, कांस्टेबल आलोक रंजन और दीनदयाल की टीम ने घेराबंदी करके कमलेश को अरेस्ट कर लिया. पूछताछ में कमलेश ने बताया कि किशोरी उसकी दूर की रिश्तेदारी में आती थी. दो माह पूर्व वह पिपराइच कस्बे में एक रिश्तेदार के घर शादी में गया था. वहीं पर किशोरी से जान पहचान हुई. बातचीत के लिए उसने किशोरी को मोबाइल फोन गिफ्ट किया. किशोरी ने उससे 55 सौ रुपए भी ले लिए थे. रुपए लेने के बाद किशोरी दूरी बनाने लगी. इस बीच उसकी बातचीत कई अन्य लड़कों से होने लगी. मना करने पर वह झगड़ा करती थी. इसलिए कमलेश ने उसे जलाकर मारने का प्लान बनाया.

नहीं मानी तो जला दिया

आरोपी ने पुलिस को बताया कि गोरखनाथ में एक दुकान से मिट्टी का तेल खरीदा. पहले से आने-जाने की वजह से उसे पता था कि किशोरी कहां पर सोती थी. रात में मौका देखकर उसने मिट्टी का तेल गिराकर आग लगा दी. आरोपी ने कहा कि इसके पहले उसने मिलने के लिए किशोरी को गोरखनाथ मंदिर में बुलाया था. अपना दिया हुआ मोबाइल छीनकर उसमें लगा सिमकार्ड भी तोड़ दिया था. इसके बाद भी किशोरी की आदत नहीं सुधरी. एसएसपी ने बताया कि जब भी कमलेश, किशोरी को फोन करता था. तब दूसरे नंबर पर बिजी रहती थी. इसलिए उसका गुस्सा बर्दाश्त नहीं हुआ.

वर्जन

किशोरी के साथ युवक की जान पहचान थी. लेकिन किशोरी उससे दूरी बनाने लगी. इससे तंग आकर उसने किशोरी की जान लेने की कोशिश की थी. उसके खिलाफ 10 हजार रुपए का ईनाम भी घोषित किया गया था.

- शलभ माथुर, एसएसपी