- आईटीआई कॉलेज में लूट करने वाले दो बदमाश अरेस्ट

- लूट की नकदी और बाइक बरामद, दो अन्य की हो रही तलाश

GORAKHPUR: सहजनवा के गीडा स्थित आईटीआई कॉलेज में 68 हजार रुपए की लूट चार शातिर बदमाशों ने की थी. वारदात में शामिल दो बदमाशों को अरेस्ट करके पुलिस ने 14 हजार नकदी बरामद कर ली है. दो अन्य की तलाश में सहजनवा पुलिस लगी है. घटना के बाद फीस के लिए विवाद करने वाले छात्रों पर पुलिस ने शक जताया था. जांच में सामने आया कि वारदात के दौरान छात्र आईटीआई कॉलेज पर नहीं गए थे. तलाश के दौरान बदमाशों का सुराग मिला. एसपी नॉर्थ रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि फीस जमा होने की रेकी करके बदमाशों ने लूटपाट की थी.

जेल से छूटकर कॉलेज को बनाया टारगेट

सहजनवा, गीडा में एक आईटीआई कॉलेज है. एक माह पूर्व एग्जाम के लिए फीस जमा कराई जा रही थी. कैश काउंटर पर बैठी महिला कैशियर को डराकर बाइक सवार 68 हजार रुपए लूट ले गए थे. घटना की सूचना पर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे. स्कूल प्रबंधक सहित अन्य लोगों ने बताया कि दो दिन पूर्व फीस को लेकर कुछ लड़कों से विवाद हुआ था. आशंका जताई गई कि उन्हीं की हरकत हो सकती है. हालांकि जांच में स्टूडेंट्स के खिलाफ कोई सुराग नहीं मिला. बाद में पता लगा कि बाइक सवार संदिग्ध युवक कई दिनों से कॉलेज के आसपास मंडरा रहे थे. पुलिस की जांच में सामने आया कि यह हरकत जेल से छूटे शातिर बदमाशों ने की है.

चकमा देकर भाग गए दो बदमाश

शुक्रवार को एसओ सहजनवा सत्य प्रकाश सिंह पुलिस टीम के साथ पेट्रोलिंग पर निकले. तभी सूचना मिली कि दो बाइक सवार चार संदिग्ध लोग गीडा एरिया में घूम रहे हैं. उनमें दो बदमाशों का हुलिया उनसे मिलता-जुलता है जिन्होंने आईटीआई कॉलेज में लूटपाट की थी. सूचना को सही मानकर पुलिस टीम ने घेराबंदी कर दोनों युवकों को पकड़ लिया. जबकि दो अन्य फरार हो गए. पूछताछ में उनकी पहचान बांसगांव जिले के भटौली बाजार निवासी सुधीर सैनी और रघुवाडीह मोहल्ले के चूड़ामणि पाठक उर्फ संजय पाठक के रूप में हुई. दोनों ने पुलिस को बताया कि उनके साथ लूट में धर्मवीर उर्फ वीरू और अजय दुबे उर्फ छोटू दुबे भी शामिल थ. चूड़ामणि ने लूट की साजिश रची थी. उसने अपने साथियों को बताया था कि यहां अकेली महिला फीस जमा कराती है. लूटपाट करने में कोई प्रॉब्लम नहीं आएगी. बदमाशों के पास लूट में इस्तेमाल बाइक बरामद हुई है. एसपी नॉर्थ ने बताया कि चूड़ामणि पाठक उर्फ संजय पाठक के खिलाफ एटीएम में हेराफेरी करके रुपए निकालने का मुकदमा बांसगांव में दर्ज था.

वर्जन

आईटीआई कॉलेज में लूटपाट करना आसान था. सुनसान माहौल देखकर बदमाशों ने वारदात का प्लान बनाया. शुरूआती जांच में छात्रों के शामिल होने के कोई सबूत नहीं मिले थे. इसलिए जांच की दिशा मोड़ दी गई. चूड़ामणि और उसके साथी काफी शातिर किस्म के बदमाश हैं.

- रोहित सिंह सजवाण, एसपी नॉर्थ