-गोरखनाथ मंदिर के दिग्विजयनाथ स्मृति सभागार में आयोजित होगा मुख्य महोत्सव व पुरस्कार वितरण समारोह

-दुल्हन की तरह सज रही गोरक्षनगरी

GORAKHPUR: यह पहला मौका होगा जब गोरखपुर में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दो दिन गोरखपुर में ठहरेंगे. वे गोरखनाथ मंदिर के दिग्विजयनाथ स्मृति सभागार में 10 दिसंबर की सुबह 9.30 बजे से आयोजित महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद संस्थापक सप्ताह समारोह के मुख्य महोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लेंगे.

राष्ट्रपति के आगमन को लेकर जिला प्रशासन की तरफ से मंदिर से लेकर शहर के मुख्य मार्ग तक की साफ-सफाई जोरों पर है. गोरखपुर एयरपोर्ट से लेकर गोरखनाथ मंदिर तक गुरुवार को जिला प्रशासन की टीम सड़कों से अतिक्रमण और टेढ़े स्ट्रीट पोल को हटवाती रही. वहीं, सड़क की गडढों को पथ निर्माण विभाग और नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारी भरवाते नजर आए. स्ट्रीट पोल्स को भी खूबसूरत लाइट से सजाया गया है.

नंदानगर क्रॉसिंग के पास सड़क निर्माण का कार्य तेज हो गया है. सदर एसडीएम प्रथमेश समेत सीओ कैंट प्रभात राय ने कूड़ाघाट के पास सड़कों का अतिक्रमण हटाया.

दीवारों पर उकेरी जा रही तस्वीरें

पुलिस लाइन की दीवारों पर यातायात जागरुकता से लेकर सरकार की तमाम योजनाओं के बारे में बताते हुए तस्वीरें बन रही हैं. दीवारों पर उकेर रहे तस्वीरों के बारे में राकेश मणि त्रिपाठी बताते हैं कि गोरखनाथ मंदिर से लगाए एयरपोर्ट तक जितने भी बाउंड्री वॉल हैं, उन दीवारों पर प्राकृतिक, धार्मिक, स्वच्छता व पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त कैसे करें आदि संदेश देती तस्वीरें पेटिंग कराई जा रही है. पेटिंग में सिटी के व्यापारियों व जिला प्रशासन का आर्थिक मदद ि1मल रहा है.

कामर्शियल के बजाय घरेलू गैस सिलेंडर का यूज

गोरखनाथ पुल के पास बन रहे स्ट्रीट साइडर की पेटिंग की गई. व्हाइट कलर की पेटिंग करने वाली टीम गोरखनाथ पुल पर कामर्शियल सिलेंडर का इस्तेमाल करते नजर आई. वहीं, गोरखनाथ मंदिर परिसर में नगर निगम की टीम घरेलू गैस सिलेंडर से स्ट्रीट साइडर में यूज होने वाले व्हाइट पेंट को घरेलू गैस सिलेंडर से पकाते नजर आई.