-दिसंबर की रिपोर्ट में भी गोरखपुर यूनिवर्सिटी था नंबर वन

-26 हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस के बीच हासिल की पहली पोजीशन

GORAKHPUR: शिकायतों को निपटाने और समस्या को सुलझाने में गोरखपुर यूनिवर्सिटी फिर प्रदेश में नंबर वन पोजीशन पर काबिज हुआ है. सिंगल विंडो सिस्टम के तहत आईजीआरएस मूल्यांकन में प्रदेश के 26 हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस में गोरखपुर यूनिवर्सिटी को पहली पोजीशन हासिल हुई है. यूनिवर्सिटी ने जनवरी में मूल्यांकन रिपोर्ट के मुताबिक, 98.18 परसेंट मा‌र्क्स के साथ यह उपलब्धि हासिल की है. वहीं, 80 फीसदी मा‌र्क्स के साथ गौतमबुद्ध यूनिवर्सिटी नोएडा दूसरे और 73.33 मा‌र्क्स के साथ डॉ. शकुंतला मिश्र नेशनल पुनर्वास विवि तीसरी पोजीशन पर है.

55 में से 54 मा‌र्क्स किए हासिल

कुलपति प्रो. वीके सिंह ने इस प्रदर्शन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए रजिस्ट्रार शत्रोहन वैश्य और उनकी टीम को बधाई दी है. साथ ही यह उम्मीद भी जताई है कि शिकायतों के निवारण की यही गति आगे भी बरकरार रहेगी. यूनिवर्सिटी पीआरओ प्रो. हर्ष कुमार सिन्हा ने बताया कि शासन मंथली लेवल पर आने वाले मामलों पर हुई कार्रवाई की बाबत विश्वविद्यालयों के कुलसचिव कार्यालयों की आख्याओं के मूल्यांकन के आधार पर यह मूल्यांकन रिपोर्ट जारी की जाती है. जनवरी माह में यूनिवर्सिटी ने सीएम ऑफिस से संदर्भित प्रकरणों का समयबद्ध निस्तारण कर दिया गया. यूनिवर्सिटी ने निर्धारित 55 में से 54 मा‌र्क्स हासिल कर प्रदेश के सभी 26 उच्च शिक्षण संस्थानों में पहली पोजीशन हासिल की.