- हट्टी माई स्थान एरिया में बंद रहे तीन ट्रांसफॉर्मर

- मेडिकल कॉलेज में बाधित रही 33 केवी की लाइन

GORAKHPUR: गर्मी के मौसम में आंधी-पानी ने बिजली विभाग को हलकान कर दिया है. बुधवार देर रात आंधी-पानी से कई इलाकों में बिजली गायब हो गई्. कहीं बिजली के तारों पर पेड़ गिर पड़े तो कहीं पर पोल टूटने से समस्या बढ़ती चली गई. गुरुवार सुबह करीब 10 बजे तक कई मोहल्लों में बिजली सप्लाई नहीं शुरू हो पाई. हट्टी माई स्थान के पास तारों पर पेड़ गिरने से घंटों सप्लाई बाधित रही.

रात में टूटा तार, दिनभर हुई मरम्मत

हट्टी माई स्थान, नर्सिग हॉस्टल के पास बिजली की लाइन पर आंधी से पेड़ गिर गया. तारों पर पेड़ गिरने से करीब तीन हजार घरों की बिजली कट गई. बिजली विभाग के कर्मचारी लाइन ठीक करने में जुटे रहे. पेड़ों के गिरने से इस इलाके में तीन ट्रांसफार्मर की बिजली कटी रही. उधर अंधियारी बाग, राप्तीनगर फेज फोर, बक्शीपुर समेत कई जगहों पर पेड़ों की डालियों ने तारों को तोड़ दिया. इसलिए रात में एक बजे से लेकर सुबह 11 बजे तक सप्लाई शुरू करने में समस्या आई.

बंद रहे नलकूप, लोगों ने उठाई परेशानी

आंधी की वजह से आवास विकास बिजली सब स्टेशन के कूड़ाघाट में बिजली कटी. मोहद्दीपुर में एक फेज उड़ने से लो वोल्टेज की प्रॉब्लम हो गई. आंधी ने सूरजकुंड, खोराबार, नार्मल, दुर्गाबाड़ी, रुस्तमपुर सहित एक दर्जन से अधिक मोहल्ले में सप्लाई ठप करा दी. बिजली सप्लाई न होने से शहर के कई नलकूप बंद रहे. इससे लोगों के घरों में वॉटर सप्लाई नहीं हो सकी. बिजली कटने से लोगों की दिनचर्या पर असर पड़ा. रात में पानी स्टोर न करने वाले लोग सुबह इधर-उधर भटकते रहे. मोहल्लों में नल न चलने से लोगों को दिक्कत हुई.