GORAKHPUR: भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के लिए शहर के कई व्यापारिक संगठनों ने विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया. राजकीय अवकाश के कारण सरकारी ऑफिस, स्कूल, कॉलेज तो बंद थे ही. वहीं व्यापारिक संगठनों की ओर से घोषित बंदी के कारण शहर के व्यस्त मार्केट भी हल्के नजर आए. गोलघर, रेती चौक, नखास, विजय चौराहा, सिविल लाइंस, दाउदपुर, भलोटिया मार्केट ही नहीं दूर-दराज के कस्बों में भी इसका प्रभाव नजर आया. यहां तक कि हमेशा व्यस्त रहने वाले इंदिरा बाल विहार पर भी पूरे दिन गिनती के ही लोग मौजूद रहे. पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि देने के लिए सर्राफा व्यापारियों, मोटर पा‌र्ट्स, दवा व्यापारियों, साहबगंज मंडी व उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापारिक मंडल ने सामूहिक तौर पर अपने प्रतिष्ठान बंद रखे.

'देश ने खो दिया महान नेता'

सराफा मंडल ने शुक्रवार को दुकानें बंद रखीं और श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया. अध्यक्ष पंकज गोयल ने कहा कि अटल जी भारत के ही नहीं विश्व के महान नेता थे. पुष्पदंत जैन ने कहा कि अटल जी जब भी गोरखपुर आते थे, मुलाकात जरूर होती थी. अतुल सराफ ने कहा कि देश ने अपना महान नेता खो दिया है. कार्यक्रम का संचालन राकेश वर्मा ने किया. कार्यक्रम में सुशील चंद गोयल, गिरीश चंद गुप्ता, शरद चंद अग्रहरि, विनोद सर्राफ, महेश वर्मा, संतोष वर्मा, संजय अग्रवाल, सोनू निगम आदि उपस्थित थे. उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल की ओर से आयोजित सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. इस अवसर पर जिलाध्यक्ष मदन लाल गुप्ता, अग्रहरि, विशाल गुप्ता, विनोद गुप्ता, अशोक गुप्ता, गिरिजेश वर्मा, संजय श्रीवास्तव, विश्वमोहन तिवारी, अवधेश सिंह, हरिनाथ सराफ, अरशद जमाल समानी आदि उपस्थित थे. दवा विक्रेता संघ की ओर से आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए अध्यक्ष योगेंद्र नाथ दुबे और महामंत्री आलोक चौरसिया ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी वैश्विक नेता थे. पूर्वाचल उद्योग व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष रमेश चंद्र गुप्ता व प्रांतीय महामंत्री अजय जयसवाल ने कहा कि अटल जी एक कवि, एक पत्रकार, एक राजनेता और सबसे बढ़कर एक बेहद अच्छे इंसान थे. इस दौरान मणिनाथ गुप्ता, नवल किशोर नाथानी, अरशद जमाल, रोहित बंका, नम्रता श्रीवास्तव, अजय शंकर ओझा, अवनीश अग्रवाल, जेपी गुप्ता, बलराम अग्रवाल, जवाहर आदि उपस्थित थे.