-साक्ष्य छिपाने के आरोप की हुई पुष्टि

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : राजभवन के करीब कैश वैन के गार्ड की हत्या कर लूट के मामले के मुख्य आरोपी विनीत उर्फ बद्री की पत्‍‌नी सोनी तिवारी को भी सोमवार को अरेस्ट कर लिया गया. पुलिस ने यह कार्रवाई उस पर साक्ष्य मिटाने के आरोप की पुष्टि होने के बाद की है.

लूट की रकम से की थी खरीदारी
इंस्पेक्टर हजरतगंज आनंद शाही ने बताया कि आरोपित महिला को घटना के बारे में जानकारी थी. उसे वारदात के दिन से सब कुछ पता था, लेकिन उसने पुलिस को जानकारी नहीं दी. वहीं, सोनी ने बताया कि उसे पूरी घटना के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. विनीत ने उसे कुछ भी नहीं बताया था. पुलिस के मुताबिक, सोनी ही लूट के रुपये लेकर रायबरेली गई थी. पड़ताल के दौरान महिला के पास से लूट के रुपयों से खरीदी गई साडि़यां व कुछ ज्वैलरी बरामद की गई है. गौरतलब है कि, 30 जुलाई को राज भवन के करीब खड़ी कैश वैन को लूट लिया था और गार्ड इंद्रमोहन शर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी थी. उसने कस्टोडियन उमेश को भी गोली मारकर घायल कर दिया था.

बैंक में जमा किये 20 हजार
पूछताछ में सोनी ने बताया है कि तीन अगस्त को उसने अपने पंजाब नेशनल बैंक के खाते में 20 हजार रुपये जमा किए थे. यह रुपये उसको विनीत ने दिए थे, जो लूट के थे. पीआरओ इंस्पेक्टर अरुण कुमार सिंह ने बताया कि अकाउंट को सीज कर रुपये जब्त कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.