- खुद सीएमओ छुट्टी पर, CHC वव PHC के डॉक्टर घर पर फरमा रहे आराम

- डेंगू से मौतों के बाद दहशत में लोग लेकिन स्वास्थ्य महकमा है बेपरवाह

GORAKHPUR: डेंगू से लड़ने में विभाग नाकाम साबित हुआ है. शहर में एक डॉक्टर समेत चार लोगों की इस रोग से मौत हो चुकी है और 82 से अधिक लोग एडमिट हैं. गंभीरता को देखते हुए महकमे में अलर्ट जारी कर दिया गया है और शासन ने सभी डॉक्टर्स व हेल्थ एंप्लाइज की छुट्टियां रद कर दी है लेकिन न तो डेंगू से मौतों के बाद डॉक्टर संवेदनशील हुए हैं और न ही उन पर शासन के निर्देश का ही कोई असर दिख रहा है. बुधवार को जिला अस्पताल में खुद सीएमओ छुट्टी पर थे. वहीं सीएचसी से लेकर पीएचसी तक छुट्टी पर गए दर्जनों डॉक्टर व हेल्थ एम्प्लाइज आदेश के बाद भी वापस नहीं लौटे हैं.

शासन का आदेश ठेंगे पर

डेंगू को लेकर शासन ने अलर्ट जारी किया है. सीएमओ ने इस अलर्ट के बाद सभी डॉक्टर्स व हेल्थ एंप्लाइज की छुट्टियां रद कर दी थी लेकिन जब बुधवार को आई नेक्स्ट रिपोर्टर फरमान के बाद की स्थिति जानने जिला अस्पताल पहुंचा तो सीएमओ खुद छुट्टी पर थे. उनकी गैर मौजूदगी में एक जिम्मेदार से बात की गई तो उनका कहना था कि शासन से आए आदेश का पालन किया जा रहा है. लेकिन छुट्टी पर गए कितने डॉक्टर्स व हेल्थ एंप्लॉइज ड्यूटी पर लौटे हैं, इस पर उन्होंने चुप्पी साध ली.

बॉक्स

सीएमओ सब जानते हैं..

डॉक्टर व हेल्थ एंप्लाइज को छुट्टी से लौटने का फरमान सीएमओ ने दिया है. इसके साथ ही नई छुट्टियां स्वीकृत नहीं करनी है. इसके बाद भी विभाग के तमाम डॉक्टर व कर्मचारी छुट्टी पर हैं. किसी की भी छुट्टी बिना सीएमओ की जानकारी के स्वीकृत नहीं होती. ऐसे में सवाल उठता है कि सीएमओ ने जब एक तरफ छुट्टी पर नहीं जाने का फरमान जारी किया है तो फिर दूसरी तरफ उन्हें छुट्टी कैसे दी. जिला अस्पताल की बात छोड़ भी दें तो ग्रामीण एरियाज में करीब एक दर्जन डॉक्टर्स और हेल्थ एंप्लाइज छुट्टी पर चल रहे हैं. शासन के आदेश के बाद कागज में तो छुट्टियां रद तो कर दी गईं, लेकिन धरातल पर इसका पालन नहीं किया जा रहा.

बॉक्स

तीन और पेशेंट्स मिले

डेंगू से पीडि़त पेशेंट्स का अस्पताल में एडमिट होने का सिलसिला जारी है. बुधवार को झंगहा एरिया की मुन्नी देवी, गोला के शिव प्रसाद और गोरखपुर के शेखर में डेंगू की पुष्टि हुई. इस समय जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड में पांच लोगों का इलाज चल रहा है. अब तक जिला अस्पताल में 319 का एलाइजा टेस्ट किया जा चुका है, जिनमें 82 में डेंगू पाया गया.

वर्जन

अगर डॉक्टर्स व हेल्थ एंप्लॉइज अवकाश पर हैं तो उन्हें तत्काल ड्यूटी पर बुलाया जाए. हेल्थ एंप्लाइज व नगर निगम की टीम एरियाज में साफ-सफाई और फॉगिंग सुनिश्चित करें.

- डॉ. आरके तिवारी, एडी हेल्थ