व‌र्ल्ड ब्लड डोनर डे आज

ये भी जानें

- राज्य में कुल ब्लड बैंक-302

- सरकारी ब्लड बैंक- 96

- सैनिक अस्पताल के ब्लड बैंक-8

- प्राइवेट व चैरिटेबल ब्लड बैंक-198

- सरकारी में कंपोनेंट सेपरेटर-40

- प्राइवेट में कंपोनेंट सेपरेटर-136

- ब्लड मोबाइल बस-3

- ब्लड ट्रांसपोर्टेशन वैन-23

- ब्लड कलेक्शन वैन-18

- ब्लड स्टोरेज यूनिट-44

- प्रोसेसिंग का खर्च अब केंद्र सरकार वहन करेगी

-अभी सौ से चार सौ रुपए प्रति यूनिट लगता है शुल्क

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में मरीजों को ब्लड के लिए अब शुल्क नहीं देना होगा. ब्लड बैंकों में ब्लड के लिए लिया जाने वाला प्रोसेसिंग चार्ज नहीं लिया जाएगा. प्रोसेसिंग का खर्च अब केंद्र सरकार वहन करेगी. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के प्रस्ताव पर केंद्र सरकार ने अपनी सहमति दे दी है. इससे हर वर्ष लाखों की संख्या में मरीजों को फायदा होगा.

अगस्त से मिलेगा लाभ

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, लोहिया अस्पताल के संयुक्त तत्वावधान में लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में रक्तदान के महत्व पर गोष्ठी का आयोजन किया गया. गोष्ठी में एनएचएम के उपमहाप्रबंधक एनएचएम डॉ. अमरेश बहादुर सिंह ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि एनएचएम अस्पतालों में खपत हुई ब्लड यूनिट के हिसाब से प्रोसेसिंग शुल्क का बजट अस्पताल को उपलब्ध कराएगा. अगस्त तक अस्पतालों में यह सुविधा लागू कर दी जाएगी. कार्यक्रम में लोहिया संस्थान के निदेशक डॉ. दीपक मालवीय, अस्पताल के निदेशक डॉ. डीएस नेगी, डॉ. वीके शर्मा, डॉ. प्रीति एलहेंस मौजूद रहीं.

प्राइवेट को देना होगा चार्ज

सरकारी ब्लड बैंक में फ्री ब्लड की सुविधा सरकारी अस्पताल, सीएचसी या पीएचसी में भर्ती मरीजों को ही दी जाएगी. प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती मरीजों को इसके लिए शुल्क देना होगा. अभी तक सरकारी ब्लड बैंक से सिर्फ बीपीएल कार्ड धारक, थैलीसीमिया, हीमोफीलिया, सिकल सेल एनीमिया, एचआईवी, गर्भवती महिला, कैदी, लावारिस, दिव्यांग व दुर्घटना के मरीजों को ही फ्री ब्लड की व्यवस्था है.

जरूरत 22 लाख यूनिट की

ब्लड सेफ्टी ज्वाइंट डायरेक्टर डॉ. गीता अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश में हर वर्ष करीब 22 लाख यूनिट ब्लड की आवश्यक्ता होती है. जबकि करीब 10 लाख यूनिट या 49 फीसद ही वालंटरी डोनेशन से मिलता है. इसमें भी महिलाओं का रक्तदान औसत 4.33 फीसद है.

केजीएमयू निकालेगा जागरुकता रैली

केजीएमयू के ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की ओर से व‌र्ल्ड ब्लड डोनर डे के अवसर पर जागरुकता रैली निकाली जाएगी. केजीएमयू से शहीद स्मारक तक प्रस्तावित रैली का डीएम कौशल राज शर्मा शुभारंभ करेंगे. इसमें केजीएमयू वीसी प्रो. एमएलबी भट्ट के साथ बड़ी संख्या में स्टूडेंट व आम नागरिक हिस्सा लेंगे.