ऑनलाइन रजिस्‍टर्ड होंगे
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2022 तक देश के सभी मवेशियों को बेहतर स्वास्थ्‍य सुविधाओं में लाने का लक्ष्‍य रखा है। इसकी तैयारी भी शुरू हो गई है। सरकार ने इस साल 8 करोड़ गाय-भैंसों को को उनकी पहचान दिलाने का प्‍लान किया है। इस योजना में अब गाय-भैंसों का भी आधार नंबर होगा। उनकी अपनी पहचान होगी। अब आप सोच रहे होंगे कि ये जानवर अपने आधार के लिए फोटो आदि कैसे खिचवाएंगें तो आप परेशान न हों। इन्‍हें फोटो और कार्ड की जरूरत नही है। इसके लिए सरकार ने विशेष व्‍यवस्‍था की है। जानवरों के कान में एक ख़ास नंबर लगा दिया जाएगा। जो बिल्‍कुल टॉप्‍स जैसा दिखेगा। इसमें 12 संख्या का एक यूनीक आइडेंटिफिकेशन नंबर होगा। यह ऑनलाइन डेटाबेस सिस्टम में रजिस्‍टर्ड होगा।

अब आपकी गाय-भैंसों का भी बनेगा आधार कार्ड

महिलाओं का अकेलापन दूर करेगा यह रोबोट, साइज में है इतना बड़ा

एनिमल हेल्थ कार्ड

इतना ही नहीं इनके मालिकों को एक एनिमल हेल्थ कार्ड दिया जाएगा। हालांकि आप सोच रहे होंगे कि इन जानवरों को इस पहचान की क्‍या जरूरत है। ऐसे में सरकार का मानना है कि मवेशियों के स्‍वास्‍थ्‍य का ख्‍याल रखने में मदद मिलेगी। इनको बीमार होने पर बेहतर स्वास्थ्‍य सुविधाएं उत्‍पन्‍न कराई जाएगी। इतना ही नहीं ऑलाइन रजिस्‍टर्ड गाय-भैसों का  समय-समय पर टीकाकरण कराया जाएगा। जिससे यह काफी हष्‍ट-पुष्‍ट रहेंगी और अच्‍छे से दूध देंगी। दूधवालों और डेरी वालों को अच्‍छा फायदा होगा क्‍योंकि इससे देश में दुग्‍ध उत्‍पादन को बढ़ावा मिलेगा। लोग बड़े स्‍तर पर मवेशी पालन के लिए भी आगे आएंगे।
पालतू कुत्‍ते के खर्राटे बंद करने के लिए इन्‍होंने लगाई अनोखी जुगाड़ कुत्‍ता हुआ शर्मिंदा

OMG! बच्‍चे ने बर्थडे केक पर लगाया चाकू तो वो हो गया ब्‍लास्‍ट

Weird News inextlive from Odd News Desk

Weird News inextlive from Odd News Desk