नर्इ दिल्ली (पीटीआर्इ)। सरकार ने शुक्रवार को कहा कि वह रिजर्व बैंक से 3.6 लाख करोड़ रुपये नहीं मांग रही है। वाणिज्य मंत्रालय के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि मीडिया में बहुत सारी गलत जानकारी आ रही है। सरकार की माली हालत एकदम पटरी पर है। सरकार द्वारा आरबीआर्इ से 3.6 लाख करोड़ रुपये ट्रांसफर करने की बात एकदम बेबुनियाद है।

वित्तीय घाटे में लगातार आर्इ है कमी
गर्ग ने बताया कि राजस्व के मामले में सरकार को पूरा भरोसा है आैर वह आश्वस्त है। सरकार को भरोसा है कि 31 मार्च, 2019 को खत्म हो रहे चालू वित्त वर्ष में वित्तीय घाटा 3.3 प्रतिशत रहेगा। वित्त वर्ष 2013-14 में वित्तीय घाटा 5.1 फीसदी था। 2014-15 के बाद से वित्तीय घाटे में लगातार कमी आर्इ है। इस साल सरकार ने बाजार उधारी का 70 हजार करोड़ रुपये पहले से ही निश्चित कर रखा है।

Business News inextlive from Business News Desk