i exclusive

लाइन लॉस रोकने के साथ राउंड द क्लॉक बिजली उपलब्ध कराने का खासा तैयार

कस्टमर को बिजली आपूर्ति की हकीकत जानने के लिए बनेगा रजिस्टर

एसडीओ को सौंपी गई जिम्मेदारी हेडक्र्वाटर को जाएगी हर दिन की इंट्री

dhruva.shankar@inext.co.in

ALLAHABAD: लॉइन लॉस के साथ पब्लिक की समस्याओं और राउंड क्लॉक आपूर्ति का सच जानने के लिए पॉवर कारपोरेशन ने नए फॉर्मूले पर काम शुरू कर दिया है. यह फॉर्मूला है, एक-एक युनिट का हिसाब रखना. यह जिम्मेदारी एसडीओ को सौंपी गयी है कि वह रजिस्टर पर इसका डाटा मेंटेन करें और उसे सीधे एमडी से प्रतिदिन शेयर करें. माना जा रहा है कि इस कदम से बार-बार पॉवर कट या लोड के सापेक्ष बिल ज्यादा आने या नया कनेक्शन देने में अधिकारी आना कानी नहीं कर पाएंगे.

क्या किया यह भी बताना होगा

बिजली से संबंधित समस्याएं लेकर आने वाले पब्लिक की शिकायतें अब सीधे लखनऊ स्थित ऊर्जा विभाग के मुख्यालय तक जाएगी. ना तो अधिकारी मनमानी कर पाएंगे और ना ही आपको बार-बार किसी सब स्टेशन का चक्कर काटना पड़ेगा. नई व्यवस्था के तहत एसडीओ को बिजली से संबंधित अपने सब स्टेशन की रिपोर्ट मुख्यालय को भेजना होगा. इसके लिए सभी एसडीओ को प्रतिदिन अनिवार्य रूप से रजिस्टर बनाना होगा. इसमें समस्या के साथ उसके समाधान के लिए क्या किया गया? इसका डिटेल होगा.

एक नहीं तीन रजिस्टर मेंटेन करेंगे

पावर कारपोरेशन के चेयरमैन आलोक कुमार की ओर से नौ अगस्त को इलाहाबाद के शहरी एरिया के सभी सब स्टेशनों के एसडीओ को रजिस्टर बनाने का निर्देश दिया गया था. जिसके तहत सभी एसडीओ को तीन रजिस्टर बनाना होगा. एक में विद्युत आपूर्ति की स्थिति, दूसरे में राजस्व की वसूली और तीसरे रजिस्ट्रर में फीडर से लाइन कट होने की वजह के बारे में विस्तृत जानकारी दर्ज करनी होगी. फोर्ट रोड सब स्टेशन के एसडीओ शुभम मिश्रा की मानें तो रजिस्टर के जरिए मुख्यालय शहर में बिजली से संबंधित समस्याओं की हकीकत को समझना चाहता है

रजिस्टर में यह देनी होगी जानकारी

रोजाना कितनी देर तक लाइन कितनी देर तक कट होती है

कटौती का कारण क्या-क्या होता है

नया कनेक्शन कितने दिनों में दिया जा रहा है

कितना लोड बढ़ाया गया है

बिल संबंधित समस्या का निस्तारण कितने दिनों में किया जा रहा है.

प्रतिदिन बकाएदारों से कितना राजस्व वसूला जा रहा है

किस एरिया में सबसे ज्यादा ट्रांसफार्मर जल रहे हैं और क्यों

मुख्यालय ने डिवीजन आफिस का बोझ कम करने के लिए रजिस्टर बनाने की जिम्मेदारी हम लोगों को सौंपी है. प्रतिदिन मुख्यालय से उसकी मानिटरिंग की जाएगी.

आरपी सिंह, एसडीओ तेलियरगंज सब स्टेशन

अभी तक पावर हाउस के एसएचओ लाग शीट पर लाइन कट होने और ट्रांसफार्मर जलने जैसी समस्याओं का रिकार्ड दुरुस्त करते थे. नई व्यवस्था के तहत रजिस्टर बनाया जाएगा और उसी दिन रिपोर्ट भेजना होगा.

विजय तिवारी, एसडीओ टैगोर टाउन सब स्टेशन