PATNA: प्रदूषण की मार झेल रहे पटना और प्रदेश के अन्य इलाकों में हरियाली बढ़ाने का बड़ा प्लान है. एक करोड़ पौध से लोगों को शुद्ध हवा देने के साथ पर्यावरण को भी बचाने का काम किया जाएगा. इसे लेकर शनिवार को प्रदेश के डिप्टी सीएम सह वन विभाग के मंत्री सुशील मोदी ने अधिकारियों के साथ बैठक कर पौधरोपण को जोर दिया है. डिप्टी सीएम ने इसके लिए एक करोड़ पौधरोपण का लक्ष्य दिया है.

बांस कॉन्क्लेव की तैयारी

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि विशेष

अभियान चलाकर राज्य में एक करोड़ पौधे लगाया जाएगा. पर्यावरण एवं वन विभाग के वन प्रमंडल पदाधिकारियों एवं अन्य क्षेत्रीय पदाधिकारियों की बैठक में उन्होंने कहा कि 9 जून को बांस कॉन्क्लेव एवं 24 व 25 जून को जलवायु परिवर्तन पर ईस्ट इंडिया कॉन्क्लेव का आयोजन किया जाएगा.

योजनाओं की समीक्षा की

डिप्टी सीएम ने पिछले एवं चालू वित्तीय वर्ष के पौधारोपण एवं कृषि वानिकी योजनाओं की समीक्षा की. इस दौरान उन्होंने अभियान में अन्य संबंधित विभागों को भी शामिल करने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि 24 और 25 जून को जलवायु परिवर्तन पर कॉन्क्लेव का आयोजन किया जाएगा जिसमें उत्तर-पूर्वी भारत के विभिन्न राज्यों के प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे. बांस की खेती को बढ़ावा देने के लिए 9 जून को बांस कॉन्क्लेव का भी आयोजन किया जाएगा.

बांस को बढ़ावा देगी सरकार

डिप्टी सीएम ने कहा कि नमामि गंगे परियोजना के तहत कम कीमत पर अच्छी गुणवत्ता के बांस का गैवियन लगाने तथा रैखिक पौधारोपण के बजाय निजी भूमि में फलदार वृक्षों को प्रोत्साहित करने के लिए काम करें. इस परियोजना के तहत चालू वित्तीय वर्ष में राज्य के 18 वन प्रमंडलों में 2120 हेक्टेयर में 36 लाख से अधिक पौधे लगाने हेतु 20.69 करोड़ रुपए की योजना स्वीकृत की गई है.