dehradun@inext.co.in
UTTARKASHI: नगालैंड के राज्यपाल पद्मनाभ बालकृष्ण आचार्य ने ट्यूजडे को गंगोत्री धाम के दर्शन किए। उन्होंने गंगोत्री मंदिर व गंगा घाट पर पूजा अर्चना की। इसके साथ ही उन्होंने गंगोत्री में सूर्य कुंड आदि की भी सैर की। नगालैंड के राज्यपाल ने कहा कि सड़कों को ठीक किया जाना जरूरी है। स्वास्थ्य सुविधाओं भी बेहतर होनी चाहिए। इससे पहले उत्तराखंड की राज्यपाल बेबीरानी मौर्या ने भी उत्तराखंड की सड़कों पर सवाल उठाए थे।

सड़कों की स्थिति बताई खराब

राज्यपाल पद्मनाभ बालकृष्ण आचार्य ने कहा कि उत्तराखंड में प्रकृति सुंदरता बेहद ही खास है। इसीलिए पूरे देश के लोग यहां आ रहे हैं, लेकिन यहां सड़कों की स्थिति खराब है जिसे सही करने की जरूरत है और यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य सेवाओं की कमी है। ट्यूजडे सुबह चिन्यालीसौड़ हवाई पट्टी पर हेलीकॉप्टर से पहुंचे। चिन्यालीसौड़ से कार के जरिये गंगोत्री पहुंचे। इससे पहले वे नेहरू पर्वतारोहण संस्थान उत्तरकाशी भी गए। यहां मीडिया से बातचीत करते हुए राज्यपाल पद्मनाभ बालकृष्ण आचार्य ने कहा कि उत्तराखंड पर्यटन और तीर्थाटन का प्रमुख क्षेत्र है। यहां देश विदेश के लोग आते हैं। इसलिए पर्यटकों का यहां की ऊंचाई के बारे में जानकारी नहीं होती है। ऐसे में स्वास्थ्य खराब होने की आशंका भी रहती है। इस लिए यात्रा मार्गों पर स्वास्थ्य सुविधाओं को सही करने की जरूरत है। इसलिए वे देश भर के लोगों से अपील करते हैं कि चारधाम के दर्शन करने और उत्तराखंड घूमने के लिए जरूर आएं।