- असली की जगह दूसरा अमीन कर रहा सर्वे

- एक अमीन पर लगाया लेनदेन का आरोप, डीएम से की शिकायत

श्चड्डह्लठ्ठड्ड@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

क्चश्वद्दस्न्क्त्रन्ढ्ढ/क्कन्ञ्जहृन्: बखरी प्रखंड के ग्रामीण इलाके में इन दिनों भूमि सर्वे में लूट मची है. इसका खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि उसी अमीन ने किया है. जिसके नाम से बंदोबस्त कार्यालय बेगूसराय द्वारा उसे मौजा आवंटित किया गया था. डीएम सह बंदोबस्त पदाधिकारी को सहायक बंदोबस्त अधिकारी के माध्यम से शिकायती पत्र में अमीन संख्या 713 हरेराम साह ने बीते 30 अगस्त को यह आरोप लगाया कि बिना उसकी जानकारी के दो-दो अंचल में मानचित्र व अभिलेख प्राप्त कर किसी और अमीन से कार्य कराया जा रहा है. हरेराम का कहना है कि वर्ष 2015 से वह छौड़ाही अंतर्गत मौजा सहुरी, थाना संख्या 21 में उजरतभोगी अमीन के पद पर कार्यरत हैं. इस बीच उसे पता चला कि अंचल गढ़पुरा के मौजा प्राणपुर, थाना संख्या 146 तथा बखरी अंचल के मौजा राटन, थाना संख्या-279 भी उसे आवंटित किया गया था. जबकि वहां बगैर उसकी जानकारी के दूसरा अमीन कार्य कर रहा है. इधर अमीन अभिनंदन यादव ने अपने ऊपर लगाए गए आरोप को मनगढ़ंत बताया है. कहा, उनके विरोधी षडयंत्र कर रहे हैं.

अमीन कर रहे मनमानी

इधर विश्वस्त सूत्रों की मानें तो ग्रामीण इलाके में चल रहे सर्वे के नाम पर सर्वे अमीन मनमानी कर रहे हैं. उनके द्वारा गरीब-गुरबे और अनपढ़ लोगों का शारीरिक, मानसिक और आर्थिक दोहन किया जा रहा है. सर्वे में नाम जोड़ने के नाम पर लोगों को केवालगी पेपर लेकर दौड़ाया जाता है. साथ ही कागजात में कुछ कमी बताकर आर्थिक दोहन करना आम बात है. सूत्र बतातें हैं कि इन सर्वे अमीनों द्वारा प्रति केवाला दो से पांच हजार रुपये तक वसूली की जा रही है. कुछ इसी तरह का आरोप जुलाई माह में बखरी नगर के वार्ड संख्या पांच निवासी लक्ष्मी साह के पुत्र अभिषेक कुमार ने बागवन पंचायत के लौछे मौजा के सर्वे अमीन रवि कुमार पर लगाया था. जिसमें लौछे स्थित भूमि के खाता संख्या में सुधार के नाम पर अमीन रवि द्वारा पांच हजार रुपये रिश्वत मांगे जाने की शिकायत एसडीओ से की थी.

शिकायत मिलने पर जांच कराकर दोषियों के विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

-ओमप्रकाश, एडीएम बंदोबस्त