नई दिल्ली (पीटीआई)। आरटीआई पूछताछ के जवाब में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत एक एजेंसी ने बताया कि मोदी सरकार अब तक जीएसटी के विज्ञापन पर 132.38 करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है। मंत्रालय के अंतर्गत 'आउटरीच और संचार ब्यूरो' के अनुसार, प्रिंट मीडिया में सरकार ने इस ब्यूरो के माध्यम से जीएसटी विज्ञापनों पर 1,26,93,97,121 रुपये खर्च किये। हालांकि, इसके साथ यह भी बताया गया कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में जीएसटी के विज्ञापन पर एक भी रुपये खर्च नहीं किये गए।

अमिताभ बच्चन थे ब्रांड एंबेसडर
9 अगस्त, 2018 तक की आरटीआई प्रतिक्रिया में ब्यूरो ने कहा कि आउटडोर मीडिया में जीएसटी विज्ञापन के लिए सरकार की ओर से 5,44,35,502 रुपये खर्च किये गये। बता दें कि आरटीआई के जरिये ब्यूरो से जीएसटी के विज्ञापन और जागरूकता अभियानों पर केंद्र द्वारा खर्च की गई राशि पर सवाल पूछा गया था। इसी पूछताछ के बाद ब्यूरो खर्च की गई राशि का उत्तर दे रहा था। गौरतलब है कि गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) 1 जुलाई, 2017 को लागू किया गया था। लोगों को नए टैक्स के बारे जानकारी देने के लिए सरकार ने मीडिया में खूब प्रचार करवाए थे। जीएसटी को बढ़ावा देने और लोगों को इसके लाभों के बारे में सूचित करने के लिए सरकार ने बॉलीवुड मेगास्टार अमिताभ बच्चन को ब्रांड एंबेसडर के रूप में भी शामिल किया था।

अप्रैल-जून तिमाही में विकास दर 8.2 फीसदी, देबराॅय ने कहा आर्थिक सुधारों पर लगी मुहर

रेलवे को युवाआें की जरूरत, लास्ट डेट का न करें इंतजार

Business News inextlive from Business News Desk