रिटेल मार्केट हो रहा प्रभावित
रिटेल व्‍यापारियों ने फ्लिपकार्ट की भारी छूट के साथ बिक्री पेशकश के मामले में शिकायत की है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुये वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि सरकार उनकी चिंताओं पर गौर करेगी. उनका कहना है कि ई-कामर्स रिटेल बिजनेस को लेकर और स्‍पष्‍टता की जरूरत होगी. निर्मला सीतारमण ने यह भी कहा कि हमारे पास काफी शिकायतें आई हैं, जिसको लेकर सरकार जल्‍द ही विचार करेगी. फ्लिपकार्ट द्वारा बिग बिलियन डे सेल को लेकर व्‍यापारियों ने काफी चिंता जताई है. उनका कहना है कि इस तरह से परंपरागत रिटेल मार्केट बुरी तरह से प्रभावित होगा.

कंपनियों ने मोड़ा मुंह
फ्लिपकार्ट द्वारा बिग बिलियन डे सेल के दौरान भारी छूट देने जहां व्‍यापारियों ने शिकायम की, वहीं दूसरी ओर कई कंपनियों ने भी मुंह मोड़ लिया है. बताया जा रहा है कि सैमसंग और सोनी जैसी कंपनियों (जिसके प्रोड्क्‍ट्स फ्लिपकार्ट ने उत्‍पादन में लगी कीमत से भी कम दाम में बेचे हैं) ने तय किया है कि वो फ्लिपकार्ट को फिलहाल अपने प्रोडकट्स नहीं बेचेंगी. इसके साथ ही कुछ कंपनियों ने फ्लिपकार्ट के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का भी सोचा है. इन कंपनियों ने तब तक फ्लिपकार्ट को अपने प्रोडक्‍ट्स की ताजा डिलीवरी नहीं देने की ठानी है जब तक यह ई-रिटेलर उन्‍हें इस बात का भरोसा नहीं दिलाता कि बाजार बिगाड़ने वाली कीमतों पर चीजें नहीं बेची जायेंगी.

कस्‍टमर्स का भड़का गुस्‍सा
फ्लिपकार्ट के लिये मेगा सेल अब एक मुसीबत बनती जा रही है. फ्लिपकार्ट को कंपनियों और व्‍यापारियों की नारागी तो झेलनी पड़ रही है, इसके साथ ही कस्‍टमर्स के गुस्‍से का भी सामना करना पड़ रहा है. दरअसल फ्लिपकार्ट ने सोमवार 6 अक्‍टूबर को ऑनलाइन सेल की घोषणा की थी. इसके तहत कंपनी ने दिन शुरू होते ही कई उत्पादों पर भारी छूट की पेशकश रखी, जिसका लाभ उठाने के लिए वेबसाइट पर ग्राहक ऐसे उमड़े की दिनभर में कई बार वेबसाइट क्रैश भी हुई. भीड़ के अनुरूप प्रॉडक्‍ट मौजूद न होने पर कई कस्‍टमर्स को आउट ऑफ स्टॉक, ऑर्डर रद्द जैसे जवाबों का भी सामना करना पड़ा. इसके बावजूद सेल के बाद खबर भी आई कि कंपनी ने कमाई का नया रिकॉर्ड बनाया है. इस दौरान वेबसाइट को एक अरब हिट्स भी मिले, जबकि 615 करोड़ रुपये की रिकॉर्ड बिक्री भी हुई, लेकिन कंपनी की इस कामयाबी के पीछे चली आ रही थी कई कस्‍टमर्स की शिकायत भी जो इस भीड़ के बीच में फंसकर रह गए. उन्‍हें सेल तक पहुंचने में कई परेशानियों का सामना करना पड़ा.

मांगनी पड़ माफी
ऐसे में कंपनी ने अपने ऐसे सभी कस्‍टमर्स को माफी की मेल भेजी है और उनकी उम्मीदों पर खरा नहीं उतरने पर खेद भी जताया है. कंपनी का कहना है कि उनकी पूरी कोशिश होगी कि आगे ऐसी गलतियां नहीं दोहराई जाएं. फ्लिपकार्ट आगे से आउट ऑफ स्टॉक, ऑडर रद्द और वेबसाइट क्रैश जैसी स्थिति से बचने की पूरी कोशिश करेगी. इसके अलावा फ्लिपकार्ट पर ग्राहकों का शॉपिंग एक्पीरिएंस एक दम बढ़िया हो इसके लिए वेबसाइट क्रैश नहीं हो इसके पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे. फिलहाल कंपनी ने अपने कस्‍टमर्स से तो माफी मांग ली है, लेकिन अब कंपनियों और व्‍यापारियों की नाराजगी को लेकर फ्लिपकार्ट का क्‍या रुख होगा, यह देखना दिलचस्‍प होगा.

Hindi News from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk