-स्टीयरिंग कमेटी ने दी मंजूरी, 2008 में पास हुआ था 150 वर्ग किमी का मास्टर प्लान

-59 वर्ग किमी विस्तार को मिली परमिशन, अमेरिकन कंपनी करेगी मास्टर प्लान तैयार

jamshedpur@inext.co.in

JAMSHEDPUR: ग्रेटर जमशेदपुर अब ख्09 वर्ग किलोमीटर रकबे में होगा. ख्008 में बने मास्टर प्लान का फैलाव क्भ्0 वर्ग किलोमीटर से बढ़ कर ख्09 वर्ग किलोमीटर रकबा कर दिया गया है. इसके लिए प्रशासन की स्टीयरिंग कमेटी की मंजूरी भी मिल गई है. ग्रेटर जमशेदपुर अब कपाली, दो मुहानी, आदित्यपुर, कांड्रा सुंदरनगर, छोटा गोविंदपुर, बेलाजुड़ी और मोहरदा तक होगा. मास्टर प्लान में भ्9 वर्ग किलोमीटर का इजाफा करने को स्टीय¨रग कमेटी ने मंजूरी दी है. प्रस्ताव रांची भेजा जाएगा और नगर विकास विभाग की हरी झंडी मिलने के बाद परामर्शी कंपनी सुपीरियर ग्लोबल ग्रेटर जमशेदपुर में जुड़े भ्9 वर्ग किमी में फैले नए इलाकों का सर्वे कर विकास का खाका तैयार करेगा.

अमेरिकी कंपनी ने बनाया था मास्टर प्लान

जमशेदपुर का मास्टर प्लान ख्008 में अमेरिकी कंपनी सुपीरियर ग्लोबल ने तैयार किया था. एक्स डिप्टी कमिश्नर हिमानी पांडे के कार्यकाल में ख्0क्ख् में इस मास्टर प्लान को प्रशासन की स्टीय¨रग कमेटी ने मंजूरी दी थी. इस मास्टर प्लान में शहर का क्भ्0 वर्ग किलोमीटर का इलाका शामिल था. नगर विकास विभाग के सचिव अजय सिंह ने इस मास्टर प्लान का प्रेजेंटेशन इसी साल देखा था. दो माह पहले जमशेदपुर आए नगर विकास विभाग के सचिव अजय सिंह ने मास्टर प्लान का दायरा बढ़ाने की बात कही थी. इसके बाद उन्होंने जमशेदपुर अक्षेस के विशेष अधिकारी दीपक सहाय को ग्रेटर जमशेदपुर का दायरा बढ़ाने का निर्देश दिया था. इसके बाद से विशेष अधिकारी दीपक सहाय ने ग्रेटर जमशेदपुर का मास्टर प्लान तैयार करने की कवायद में जुटे थे. अब ग्रेटर जमशेदपुर का विस्तृत मास्टर प्लान तैयार होगा. इसे लेकर जिला सभागार में हुई स्टीय¨रग कमेटी की बैठक में सुपीरियर ग्लोबल के प्रतिनिधि सतीश सिंह ने ग्रेटर जमशेदपुर के मास्टर प्लान का खाका प्रेजेंटेश्न के जरिए पेश किया. डिप्टी कमिश्नर (डीसी) डॉ. अमिताभ कौशल की अध्यक्षता में ग्रेटर जमशेदपुर के मास्टर प्लान को मंजूरी के लिए होने वाली स्टीय¨रग कमेटी की बैठक में जमशेदपुर अक्षेस के विशेष अधिकारी दीपक सहाय, मानगो के विशेष अधिकारी जेपी यादव, जुगसलाई के विशेष अधिकारी, आदित्यपुर नगर पर्षद के विशेष अधिकारी सुरेश यादव, आयडा के प्रतिनिधि एचएन सिंह, जमशेदपुर अक्षेस के जेई एचके भगत, टेल्को के प्रशासनिक हेड आदि मौजूद रहे.

ख्0ख्7 तक के लिए तैयार हो रहा प्लान

मास्टर प्लान वर्ष ख्0ख्7 तक की जरूरतों को ध्यान में रख कर तैयार किया जा रहा है. मतलब नेक्स्ट क्ख् साल को देख कर शहर के विकास की योजना बनाई जा रही है. शहर के बाहरी इलाकों जैसे दोमुहानी, कपाली, एनएच में बेलाजुड़ी तक, रेलवे स्टेशन के आगे सुंदरनगर तक के इलाके में शहर जैसी नागरिक सुविधाओं के लिए आधारभूत ढांचा तैयार करना होगा. ग्रेटर जमशेदपुर का मास्टर प्लान तैयार करने वाली कंपनी सुपीरियर ग्लोबल का कहना है कि मास्टर प्लान में इजाफे के प्रस्ताव को नगर विकास विभाग की हरी झंडी मिलने के छह महीने के अंदर वह नया प्लान तैयार कर देगी. सुपीरियर ग्लोबल को कपाली, आदित्यपुर, दोमुहानी, बेलाजुड़ी, सुंदरनगर आदि इलाके का मास्टर प्लान तैयार करना होगा। इन इलाकों का सर्वे कर इलाके में रोड, पार्क, नागरिक सुविधाएं, अस्पताल, स्कूल आदि का प्लान तैयार करना होगा.

डेढ़ करोड़ में बना था शहर का मास्टर प्लान

ख्008 में बना मास्टर प्लान करीब डेढ़ करोड़ रुपये में बना था. एक वर्ग किलोमीटर के बदले परामर्शी कंपनी सुपीरियर ग्लोबल ने एक लाख रुपये लिए थे. वह प्लान क्भ्0 वर्ग किलोमीटर में फैला था, इसलिए मास्टर प्लान तैयार करने की लागत डेढ़ करोड़ रुपए आई थी. इस हिसाब से नए मास्टर प्लान को बनाने में करीब भ्9 लाख रुपए का खर्च आएगा.