नगर निगम ने छीना तीन कूड़ा अड्डों से कचरा उठाने का काम

शिकायत पर नगर आयुक्त के निरीक्षण में मिली थी लापरवाही

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: डोर-टू्र-डोर कूड़ा कलेक्शन में फ्लॉप हरी-भरी अब बड़े कूड़ा अड्डों से कचरे को बसवार प्लांट तक पहुंचाने में भी अक्षम साबित हो रही है. संस्था की नाकामी के चलते कई दिन तक कचरा कूड़ा अड्डों पर ही पड़ा रहता है. हालात को देखते हुए नगर निगम एडमिनिस्ट्रेशन ने अब हरी-भरी के कार्यक्षेत्र में कटौती की तैयारी की है.

शिकायत पर की गई कार्रवाई

नगर निगम ने डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन के साथ बड़े कूड़ा अड्डों से कचरा उठा कर बसवार प्लांट तक पहुंचाने एवं उसे निस्तारित कराने की जिम्मेदारी हरी-भरी को दी थी. इसमें हरी-भरी पूरी तरह फ्लाप रही. इसे देखते हुए अब बड़े कूड़ा अड्डों के संचालन का काम हरी-भरी से छीनकर नगर निगम एडमिनिस्ट्रेशन ने खुद करने का मन बना लिया है. मतलब यह कि कचरा बसवार प्लांट तक पहुंचाने का काम अब स्वयं नगर निगम ही करेगा. नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने लीडर रोड, हैजा हॉस्पिटल और शंकर ढाल स्थित कूड़ा अड्डे का जिम्मा हरी-भरी से छीन लिया है. बताते हैं कि नगर आयुक्त को शिकायत मिली थी कि इन कूड़ा अड्डों पर हफ्तों कचरा पड़ा रहता है, उठाया ही नहीं जाता. नगर आयुक्त ने लीडर रोड कूड़ा अड्डे की जांच की तो पता चला कि कचरा सड़क तक फैला हुआ है. उन्होंने तत्काल कचरे को हटवाने एवं कूड़ा अड्डे को खाली कराने का निर्देश दिया.

हफ्तों कचरा कूड़ा अड्डे पर ही पड़ा रहता है. इसे हटवाने की जिम्मेदारी हरी-भरी की है. पहले भी हरी-भरी को कई बार मौका दिया जा चुका है. अब एक बार और मौका मांगा जा रहा है, जो मुमकिन नहीं है. अब सख्त कदम उठाया जाना आवश्यक हो गया है.

अभिलाषा गुप्ता

मेयर, नगर निगम इलाहाबाद

शहर की सफाई व्यवस्था में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. लीडर रोड, हैजा हॉस्पिटल के साथ ही अन्य कूड़ा अड्डों पर कचरा कई दिनों तक पड़ा रहता है. इसलिए तीन कूड़ा अड्डों के संचालन का अधिकार हरी-भरी से छीन लिया गया है. अगर व्यवस्था नहीं सुधरी तो आगे और सख्त कार्रवाई की जाएगी.

अविनाश सिंह, नगर आयुक्त

नगर निगम