i exclusive

-बोर्ड परीक्षा केन्द्रों को बनाने में जमकर हो रही मनमानी

-मानकों की अनदेखी करते हुए बोर्ड पर लगे कई परीक्षा केन्द्र बनाने के आरोप

prakashmani.tripathi

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: यूपी बोर्ड परीक्षाओं के लिए केन्द्र बनाने की प्रक्रिया आखिरी चरण में है. ऐसे में परीक्षा केन्द्रों को मनमाने ढंग से बनाने के आरोप लगने लगे हैं. यूपी बोर्ड की ओर से इस बार खुद के बनाए मानकों की अनदेखी करते हुए बोर्ड परीक्षा केन्द्र बनाने का मामला उठने लगा है. जिले के कई परीक्षा केन्द्रों के सत्यापन में जहां स्कूलों में कम कमरे दर्ज किए गए हैं, वहीं बोर्ड रिपोर्ट में ऐसे स्कूलों के कमरों की संख्या बढ़ाते हुए वहां पर अधिक कमरे दिखाकर सेंटर बना दिया गया है.

20 किमी भेज दिया हाईस्कूल का सेंटर

यूपी बोर्ड में सेंटर बनाने में चल रहे खेल का ही नतीजा है कि हाईस्कूल का सेंटर 20 किलोमीटर दूर भेज दिया गया है. जबकि मानक के अनुरूप ग‌र्ल्स का सेंटर पांच किलोमीटर व ब्वायज का सेंटर आठ किलोमीटर दूर तक ही भेजा जा सकता है. आदर्श इंटर कॉलेज राजापुर के दसवीं का सेंटर यूडी मेमोरियल इंटर कालेज असरावेकला भेज दिया गया है. जबकि दोनों स्कूलों के बीच दूरी करीब 20 किलोमीटर है. ऐसे ही कई अन्य स्कूलों के सेंटर बनाने में मनमानी की गई है. इसके कारण बोर्ड परीक्षा के दौरान बच्चों को परेशानी उठानी पड़ेगी.

सत्यापन रिपोर्ट के बाद बढ़ गए कमरे

केन्द्र बनाने में एडीआईओएस की सत्यापन रिपोर्ट के साथ छेड़छाड़ के आरोप लग रहे हैं. आरोप है कि बचई सिंह सिगरौर चन्द्रसेन कॉलेज में लैब सहित 12 कमरे हैं. एडीआईओएस की ओर से दी गई सत्यापन रिपोर्ट में भी यही बात लिखी गई है. जबकि बोर्ड में स्कूलों में कमरों की संख्या 24 हो गई है. इसी प्रकार कई अन्य स्कूलों की रिपोर्ट में भी गड़बड़ी का आरोप लग रहा है.

ऐसी शिकायत आती है तो उसकी जांच कराई जाएगी. जिससे केन्द्र बनाने में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोका जा सके.

-नीना श्रीवास्तव

सचिव, यूपी बोर्ड