वर्चस्व को लेकर दो पक्षों के बीच लम्बे समय से चली आ रही अदावत ने मंगलवार को खूनी जंग का रूप ले लिया. एक पक्ष ने घेरा बंदी करके दूसरे पक्ष पर फायरिंग की तो दूसरे पक्ष के लोगों ने लाठी-डंडा लेकर घर पर चढ़ाई कर दी. गोली लगने से घायल अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया जबकि पिटायी से घायल एक अन्य को गंभीर अवस्था में एसआरएन हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है. घटना को लेकर बढ़े तनाव को देखते हुए मौके पर बड़ी संख्या में फोर्स तैनात कर दी गयी है. समाचार लिखे जाने के समय तक किसी भी पक्ष की तरफ से रिपोर्ट दर्ज नहीं की गयी थी.

कार से घर जाते वक्त किया हमला

घटना मंगलवार की देर शाम लखनऊ हाईवे पर स्थिति नवाबगंज थाना क्षेत्र के चफरी गांव में सामने आयी. मृतक का नाम इश्तियाक बताया गया है. उसकी उम्र करीब 35 साल के आसपास थी. घायल का नाम रईस बताया गया है. उसकी उम्र करीब 30 साल के आसपास है. चफरी गांव के रहने वाले दोनो अपनी स्विफ्ट कार से घर लौट रहे थे. गांव से कुछ ही दूर पहले स्थित बाबा की कुटिया के पास कुछ लोग पहले से ही घात लगाये बैठे थे. जैसे ही कार मोड़ पर पहुंची असलहों से लैस लोगों ने फायर झोंक दिया. निशाना इश्तियाक थे. पेट में गोली लगने से इश्तियाक को रक्तस्राव होने लगा तो तो वह छटपटाने लगे. इसके बाद गाड़ी रुकी तो हमलावरों ने रईस पर लाठी-डंडे से हमला बोल दिया. इससे वह भी गंभीर रूप से जख्मी हो गया. आनन फानन में उन्हें सीएचसी कौडि़हार ले जाया गया जहां से डॉक्टर्स ने उन्हें एसआरएन के लिए रिफर कर दिया. यहां लाते वक्त रास्ते में उन्होंने दम तोड़ दिया. यहां तक पहुंच गये रईस की हालत भी गंभीर बतायी गयी है.

पब्लिक ने ललकारा तो भागे बदमाश

दिन ढलने के बाद फायरिंग की आवाज सुनकर पब्लिक का ध्यान उधर गया और पब्लिक ने बदमाशों को ललकारा और स्पॉट की तरफ दौड़े तो हमलावरों ने वहां से भाग लेने में ही भलाई समझी. पब्लिक ने इश्तियाक को तड़पते हुए देखा तो उन्हें अस्पताल भेजवाने की व्यवस्था की. संयोग से तब तक काफी देर हो चुकी थी और बदमाश पकड़ से बाहर हो चुके थे. घटना की सूचना इश्तियाक के घर तक पहुंची तो बवंडर खड़ा हो गया. परिवार के लोग सन्नाटे में थे तो कुछ लोग तैश में आ गये.

आरोपियों के घर कर दी चढ़ायी

घटना को लेकर जोश में आ गये लोगों ने इसे लेकर दूसरे पक्ष के गद्दीदार और घटना के जिम्मेदार जावेद के घर पर धावा बोल दिया. लाठी-डंडे से लैश लोगों का तेवर देखकर बड़े बवाल का अंदेशा हो गया. इसकी सूचना मिलते ही सीओ जितेन्द्र गिरी के साथ नवाबगंज, सोरांव, मऊआइमा, होलागढ़ आदि थानों से फोर्स गंगा के कछार में बुला ली गयी. पुलिस के मुताबिक दूसरे पक्ष जावेद के लोगों के घर पर भी मारपीट हुई है. सीओ का कहना था कि मौके पर तनावपूर्ण शांति है. बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. एहतियातन फोर्स तैनात कर दी गयी है.

गद्दीदारों में वर्चस्व की जंग क्यों

घटनास्थल गंगा का कछारी इलाका लगता है. यहां गंगा का पानी उतरने के बाद इसकी तलहटी में खेती होती है. खेती कौन करेगा यह तय है लेकिन कितनी जमीन किस गद्दीदार के कब्जे में जाएगी? इसे लेकर हमेशा तनाव की स्थिति रहती है. इश्तियाक और जावेद पक्ष में इसे लेकर पहले भी कई बार मारपीट हो चुकी है. हत्या की घटना पहली बार हुई है. इससे माना जा रहा है कि रंगबाजी में होने वाली घटनाओं में इजाफा हो सकता है. इसी के चलते पुलिस ज्यादा सतर्क नजर आयी.

Crime News inextlive from Crime News Desk