जिला अस्पताल में एक महीने का एंटी रेबीज स्टॉक भी नहीं

अस्पताल में रोजाना पहुंच रहे हैं 150 से 200 मरीज

MEERUT। जहां एक तरफ शहर में कुत्तों के काटने से जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है वहीं अस्पताल में एंटी रेबीज वैक्सीन खत्म होने की कगार पर पहुंच गई है। जिसके चलते अस्पताल में आने वाले आधे से ज्यादा मरीजों को बिना वैक्सीनेशन ही वापस लौटना पड़ रहा है। स्थिति ये है कि काउंसलिंग करने के बाद ही मरीज को इंजेक्शन लगाया जा रहा है।

महीने भर का स्टॉक नहीं

यूपी ड्रग कॉर्पोरेशन की ओर से पिछले तीन महीने से एआरवी का स्टॉक नहीं भेजा गया हैं। ऐसे में अस्पताल के पास मात्र लोकल पर्चेज के जरिए खरीदा हुआ स्टॉक ही शेष रह गया है। यह स्टॉक भी महीने भर आने वाले मरीजों के लिए नाकाफी है। अधिकारियों के मुताबिक अस्पताल में मात्र 900 वॉयल यानी 4500 वैक्सीन ही शेष हैं। जबकि आगामी दो महीने तक भी कॉर्पोरेशन की ओर से वैक्सीन आने की उम्मीद नहीं हैं। वहीं आचार संहिता के चलते अस्पताल प्रशासन नई वैक्सीन नहीं खरीद सकता है।

यह है स्थिति

जिला अस्पताल शहर का एकमात्र एआरवी सेंटर हैं। मंडल अस्पताल होने की वजह से आस-पास के इलाकों के मरीज भी यहीं आते हैं। हर दिन करीब 200 से 250 मरीज अस्पताल में एआरवी लगवाने आते हैं। मगर अस्पताल में वैक्सीन की किल्लत होने की वजह से अब यह संख्या घटकर 100 से 125 लोगों पर सिमट गई है। इन मरीजों को भी काउंसलिंग करने के बाद ही वैक्सीन लगाई जा रही है।

दे रहे नजर रखने की नसीहत

कुत्ता काटने की परेशानी लेकर आ रहे मरीजों को एंटी रेबीज वैक्सीन से पहले काउंसलिंग प्रोवाइड करवाई जा रही है। इसके तहत मरीजों को पहले 10 दिन तक काटने वाले कुत्ते पर नजर रखने की नसीहत दी जा रही है। इसके अलावा बाहर से आने वाले मरीजों को भी वैक्सीन नहीं मिल रही हैं।

एआरवी के लिए हमारे पास लोकल स्टॉक है। कॉर्पोरेशन की ओर से दवाइयां नहीं आई हैं। हमने दोबारा से डिमांड भेजी है।

डॉ। पीके बंसल, एसआईसी, जिला अस्पताल

अस्पताल में वैक्सीन लगवाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। बाहर से आने वाले मरीजों को वैक्सीन लगाते ही नहीं हैं।

अकरम

कुत्ता काटने का इंजेक्शन लगवाने के लिए चार दिन से चक्कर काट रहे हैं लेकिन अस्पताल वाले इंजेक्शन लगाते ही नहीं हैं।

राशिद

कुत्ते ने काट लिया था मगर घाव नहीं था इसलिए वैक्सीन नहीं लगाई है। 10 दिन बाद बुलाया है।

इरफान