-सावन में सिटी के रेलवे स्टेशंस के लिए बना खास प्लान

-आगरा व झांसी से मंगाई गयी एक्स्ट्रा फोर्स

varanasi@inext.co.in

VARANASI

सावन महीने के नजदीक आते ही कैंट रेलवे स्टेशन पर भी तैयारी होने लगी है. हर साल होने वाली भीड़ को देखते हुए जीआरपी ने सावन के लिए प्लान बना लिया है. इस महीने में असामाजिक तत्वों की खलल न पड़े, इसके लिए रेलवे प्रशासन ने खास तैयारी की है. इसके तहत जहां सिटी के विभिन्न प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर फोर्स का कड़ा पहरा होगा, साथ ही केशरिया रंग की वेश भूषा में जीआरपी के जवान भी कांविरयों की टोली में शामिल होकर हर गतिविधियों पर निगरानी रखेंगे.

लाखों का उतरता है रेला

सावन के महीने में हर साल लाखों श्रद्धालु बनारस के प्रमुख शिवालयों में जलाभिषेक करने आते हैं. इनमें से अधिकतर पूरे देश से ट्रेंस से ही पहुंचते हैं. लिहाजा पूरे महीने सिटी के सभी स्टेशंस पर कांवरियों की भारी भीड़ जमी रहती हैं. ऐसे में असामाजिक तत्वों की दखल से भक्तीमय माहौल न बिगड़े, इसके लिए रेलवे प्रशासन ने एडवांस प्लान बनाया है. इसके तहत कैंट स्टेशन सहित मंडुवाडीह स्टेशन और काशी स्टेशन पर टाइट सिक्योरिटी रहेगी. इस दौरान कैंपस में आने जाने वालों पर विशेष नजर होगी.

पश्चिम से आएगी फोर्स

सावन महीने में जिले के प्रमुख स्टेशनों पर सुरक्षा कारणों से चौकसी बरती जाएगी. इस बाबत आसपास के स्टेशंस सहित जीआरपी के आगरा और झांसी अनुभाग से अतिरिक्त फोर्स की डिमांड की गयी है. सुरक्षा ड्यूटी में अतिरिक्त 20 एसआई, 15 महिला कांस्टेबल और 80 कांस्टेबल तैनात होंगे. एक प्लाटून पीएसी के जवान तैनात रहेंगे. आपात स्थितियों से निबटने के लिए रेलवे कैंपस में फायर ब्रिगेड की टीम, डॉक्टर्स सहित एक एम्बुलेंस और ट्रैफिक विभाग के छह कांस्टेबल भी तैनात रहेंगे.

बदले नहीं जाएंगे प्लेटफार्म

कांवरियों की भीड़ के बीच भगदड़ की स्थिति न उत्पन्न हो, इसको देखते हुए जीआरपी ने रेलवे के उच्चाधिकारियों को लेटर लिखा है. जीआरपी के अनुसार स्टेशन कैंपस में भारी भीड़ के बीच छोटी से लापरवाही भगदड़ के हालात पैदा हो सकते हैं. इसके मद्देनजर सावन महीने में प्लेटफार्म बदलने पर रोक लगाने के लिए रेलवे एडमिनिस्ट्रेशन को लेटर लिखा गया है.

सावन के लिए एडवांस प्लान तैयार है, 27 जुलाई तक सभी स्टेशंस पर एक्स्ट्रा फोर्स की तैनाती हो जाएगी. सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर स्टेशन कैंपस में जवान कांवरिये के वेश में नजर रखेंगे.

अशोक दूबे, इंस्पेक्टर

जीआरपी कैंट