i impact

शासन हुआ सख्त, डीएम करेंगे कार्रवाई, दुकानदारों पर होगी रिपोर्ट

बुक पब्लिशर्स और शॉप ओनर्स के खिलाफ होगी कार्रवाई

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: कक्षा नौ से 12 तक की यूपी बोर्ड की किताबें खरीदने पर गाइड लेना अनिवार्य करने का गेम खेल रहे दुकानदारों और पब्लिशर्स की जुगलबंदी तोड़ने के लिए शासन सख्त हो गया है. शनिवार के अंक में दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने स्टिंग करके इस मामले को उजागर किया और इस प्रकरण को डिप्टी सीएम और शिक्षा मंत्री दिनेश शर्मा के साथ बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव के संज्ञान में डाला तो शनिवार को शासन से डायरेक्शन जारी हो गया. छात्रों और उनके अभिभावकों को शिकायत दर्ज कराने के लिए डीएम और यूपी बोर्ड सचिव का दो प्लेटफॉर्म दे दिया गया. निर्देश दिया गया है कि दुकानदारों और पब्लिशर्स के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करके कार्रवाई की जाय. किसी भी बुक के साथ कोई गाइड लेने पर छात्र को मजबूर न किया जाय.

16 साल पहले भी इतना कम रेट नहीं था

बता दें कि इस बार माध्यमिक शिक्षा परिषद ने पब्लिशर्स को टेंडर देकर एनसीइआरटी की बुक्स छपवाई हैं. इससे किताबों का रेट काफी कम हो गया है. यह छात्रों के फायदे की बात है तो बुक्स सेलर्स और पब्लिशर्स के लिए घाटे का सौदा. इसकी भरपाई करने के लिए शॉप ओनर और पब्लिशर्स के गठजोड़ ने गाइड लेने पर ही किताबें देने का फॉर्मूला अपना लिया. इसका परिणाम यह हुआ कि 400 रुपये में किताबों का पूरा सेट गाइड का रेट जुड़ने पर 1200 तक पहुंच गया. इससे छात्रों को झटका लगा. समाचार पत्र में यह मामला उजागर होने के बाद शासन गंभीर हो गया है. शनिवार को बोर्ड मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए सचिव नीना श्रीवास्तव ने कहा कि जिन पब्लिशर्स व बुक शॉप ओनर्स द्वारा बुक्स के साथ गाइड लेने पर मजबूर किया जा रहा है उनकी शिकायत सीधे डीएम या बोर्ड सचिव से की जाय. उन्होंने दो टूक कहा कि बुक्स के साथ गाइड लेने की कोई अनिवार्यता नहीं है. कोई पब्लिशर्स ऐसा करता है तो उसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी.

नौ रुपए में है कक्षा नौ के अर्थशास्त्र विषय की बुक

बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा के कुल 18 विषयों में एनसीईआरटी पाठ्य पुस्तकों को प्रचलन में लाने का निर्णय लिया गया है. इसके लिए 18 विषयों की 31 बुक्स मार्केट में उपलब्ध है. इन पुस्तकों में सबसे अधिक मूल्य की पुस्तक कक्षा 11वीं गणित की 76 रुपए और कक्षा नौ की अर्थशास्त्र की बुक की कीमत महज नौ रुपए है. बोर्ड सचिव ने बताया कि एनसीईआरटी की बुक्स के मेन पेज पर माध्यमिक शिक्षा परिषद उप्र का लोगो लगा है. मोटे अक्षरों में उप्र राज्य हेतु भी मुद्रित है. इसके अलावा कवर पृष्ठ के नीचे वाले पृष्ठ पर एनसीईआरटी की अनुमति व सहयोग से माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा प्रकाशित 'रॉयल्टी पेड बुक' अंकित है. इसलिए कोई भी अभिभावक बुक शॉप आनर्स के बहकावे में आने से बचें.

बुक्स के एक सेट की कीमत

कक्षा नौ 212 रुपए

कक्षा दस 126 रुपए

कक्षा 11 270 रुपए विज्ञान वर्ग

कक्षा 12 151 रुपए कला वर्ग

कक्षा 12 325 रुपए विज्ञान वर्ग