नौचंदी मैदान में पथिक सेना ने आयोजित की रैली

भाजपा को सराहा तो कैबिनेट में गुर्जर मंत्री न होने पर कोसा

13 सूत्रीय मांगपत्र, आयोजन में कई प्रदेशों से पहुंचे लोग

Meerut. नौचंदी मैदान से यूपी समेत आसपास के प्रदेश से जुटे हजारों गुर्जरों ने रविवार को लोकसभा चुनाव में भागेदारी का दम भरते हुए 5 सीटों पर गुर्जर प्रत्याशी को टिकट देने की मांग भाजपा से की. वहीं यूपी की योगी सरकार के मंत्रिमंडल में गुर्जर के शामिल न होने पर आक्रोश भी जताया. आयोजक और पथिक सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुखिया गुर्जर के लिए मेरठ-हापुड़ लोकसभा क्षेत्र से टिकट की मांग भी इस दौरान समर्थकों ने रख दी.

13 सूत्रीय मांगों को दोहराया

देश की राजनीति में गुर्जरों की भागीदारी, सेना में गुर्जर रेजीमेंट, राष्ट्रपति के अंगरक्षक दल में गुर्जर को शामिल करने समेत 13 सूत्रीय मांगों को रैली के दौरान वक्ताओं ने रखा. साथ ही ऐलान हुआ कि यदि मांगों को नहीं माना गया तो लोकसभा चुनाव में गुर्जर विकल्प पर भी फैसला कर सकता है. संबोधन में दौरान मुखिया गुर्जर ने कहा कि सरकार पटेल व धनसिंह कोतवाल की प्रतिमा के लिए आभार लेकिन इससे पेट नहीं भरने वाला. रैली की अध्यक्षता योग गुरु कर्मवीर ने की. मंच पर कैराना से मृगांका सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष कुलविंदर सिंह, सेना के प्रदेश अध्यक्ष परविंदर सिंह, जिलाध्यक्ष उमेश गुर्जर, विधायक लोनी नंद किशोर गुर्जर, हस्तिनापुर दिनेश खटिक, भाजपा जिलाध्यक्ष रविंद्र भड़ाना आदि समेत गुर्जर समाज से राजस्थान, हिमाचल व जम्मू कश्मीर के नेता सम्मिलित हुए. मंच का संचालन राष्ट्रीय महासचिव प्रदीप रघुनंदन ने किया.

नहीं आए मंत्री

नौचंदी मैदान में पथिक सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुखिया गुर्जर ने हजारों की भीड़ तो जुटा ली किंतु मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर व पूर्व मंत्री स्वामी चिन्मयानंद नहीं आए. आयोजन में पहुंचे भाजपा जिलाध्यक्ष रविंद्र भड़ाना, लोनी विधायक नंद किशोर गुर्जर व हस्तिनापुर से विधायक दिनेश खटीक भी कुछ देर बाद चले गए.

घोड़े पर बैठकर पहुंचे मुखिया

गुर्जर अधिकार रैली में रविवार को आयोजक और पथिक सेना के प्रमुख मुखिया गुर्जर घोड़े पर बैठककर आयोजन स्थल तक पहुंचे. उनके साथ सेना में प्रदेश अध्यक्ष परविंदर सिंह और जिला पंचायत अध्यक्ष कुलविंदर सिंह भी घोड़े पर बैठकर मंच तक पहुंचे. दोनों की मुखिया गुर्जर के बेटे हैं.

रागिनी ने बांधा समां

12 बजे से प्रस्तावित रैली में सैकड़ों बसों से लोग पहुंचे तो वहीं रैली का आयोजन 2 बजे से शुरू हुआ. इस दौरान मंच के नीचे रागिनी कलाकारों ने जमकर समां बांधा. गुर्जर समाज की वीरगाथाओं का बखान करते-करते रागिनी गायक समाज की कुरीतियों पर अपने गायन से प्रहार करते रहे. इस दौरान लोगों ने जमकर रागिनी का लुत्फ उठाया तो हौसला आफजाई करने के लिए ईनाम भी दिया.

ड्रोन बना आकर्षण का केंद्र

आयोजन स्थल पर उड़ रहा ड्रोन लोगों के आकर्षण का केंद्र रहा. रैली में दूर-दूर से आने वाले लोग अपने साथ ढोल-नगाड़े लेकर आ रहे थे. रैली से पूर्व मंच के नीचे आने वाले लोगों ने जमकर एन्ज्वाय किया. रैली में अव्यवस्था पर आयोजक मुखिया गुर्जर का कई बार पारा चढ़ा.