तेहरान (आइएनएसएस)। ओमान की खाड़ी में नॉर्वे के दो तेल टैंकरों पर हुए हमले के लिए ब्रिटेन ने भी ईरान को जिम्मेदार ठहराया था। तेहरान के खिलाफ लंदन के इस रुख को ध्यान में रखते हुए ईरानी विदेश मंत्रालय ने तेहरान में तैनात ब्रिटिश राजदूत रॉबर्ट माकैरे को तलब कर लिया है। तेहरान टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि तेहरान ने ब्रिटिश सरकार के 'निराधार आरोपों' और ईरान-विरोधी रुख के खिलाफ भारी विरोध किया है और कहा है कि बिना किसी सबूत के ब्रिटेन के आरोप उन्हें स्वीकार नहीं हैं। बता दें कि शुक्रवार को ब्रिटिश विदेश मंत्री जेरेमी हंट ने तेल टैंकरों पर हमलों के लिए ईरान को दोषी ठहराते हुए एक आधिकारिक बयान जारी किया था।

ईरान का आरोप, हमारे देश में हुए आत्मघाती हमले में मारे गए 27 सैनिकों के पीछे भी पाकिस्तान का हाथ

और कोई देश नहीं है जिम्मेदार
हंट ने अपने बयान कहा था कि ईरान के अलावा इस हमले के लिए और कोई भी देश या नेता जिम्मेदार नहीं हो सकता है। इसपर ईरानी विदेश मंत्रालय ने कहा कि आरोप बिना किसी सबूत के लगाए गए हैं, हंट ने इस तरह की टिप्पणी अमेरिका को देखकर की है। बता दें कि गुरुवार को ओमान की खाड़ी में नॉर्वे के दो तेल टैंकरों पर तीन धमाके हुए लेकिन कोई भी घायल नहीं हुआ। इस विस्फोट के एक दिन बाद अंतरराष्ट्रीय तेल बाजारों में अफरा-तफरी मच गई। अमेरिका ने इस हमले का आरोप ईरान पर लगाया, जिसके बाद सहयोगी देशों ने अमेरिका से ईरान पर इस धमाके के लिए कार्रवाई करने की बात कही। अमेरिका ने इस हमले के बाद एक वीडियो भी जारी किया, जिसमें टैंकरों के पास  ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स को देखा गया था।'

International News inextlive from World News Desk