- कांट्रेक्टर की स्कार्पियो में रखी थी लाइसेंसी पिस्टल

- वाशिंग के दौरान सफाई कर्मी ने पिस्टल निकाल चलाई गोली

- साथी कर्मचारी के सीने में लगी गोली, हालत गंभीर ट्रामा में भर्ती

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : सहारागंज माल के बेसमेंट में बने वाशिंग सेंटर में सफाई कर्मी को गोली मार दी गई. वॉशिंग सेंटर में वॉश के लिए आई स्कार्पियो में लाइसेंसी पिस्टल रखी थी. सफाई के दौरान एक कर्मचारी के हाथ में पिस्टल लग गई और उसने धोखे से अपने ही साथी के सीने में गोली मार दी. गोली चलने ही हड़कंप मच गया और वॉशिंग सेंटर में काम करने वाले कर्मचारी घायल युवक को एक्टिवा स्कूटर में लाद कर इलाज के लिए ट्रामा सेंटर ले गए. जहां युवक की हालत गंभीर बताई जा रही है.

वॉशिंग को आई थी गाड़ी
मूलरूप से रायबरेली निवासी जीशान कादिर कैसरबाग एरिया में रहते हैं और पेशे से वह कांट्रेक्टर हैं. मंगलवार शाम 6.30 बजे वह सहारागंज माल के बेसमेंट में बने कार वॉशिंग सेंटर में अपनी स्कार्पियो वॉश कराने के लिए गये थे. गाड़ी वहां छोड़ने के बाद जिशान कस्टमर वेटिंग रूम में जाकर बैठ गया. स्कार्पियो के डैशबोर्ड में उसकी लाइसेंसी पिस्टल रखी थी.

सफाई के दौरान निकाली पिस्टल
माल के बेसमेंट में कैसरबाग निवासी अजय का वाशिंग सेंटर है. वाशिंग सेंटर में उदयगंज मुरादअली लेन निवासी रोहित कुमार (20), केकेसी महावीरपुरी निवासी वासिफ, लक्ष्मण मेला में रहने वाला दीपक और सनी काम करते हैं. मंगलवार शाम 6.45 बजे रोहित, वासिफ और दीपक जिशान की स्कार्पियो गाड़ी वॉश कर रहे थे. बाहर सफाई के बाद वासिफ अंदर क्लीनिंग कर रहा था तभी डैशबोर्ड में रखी जिशान की पिस्टल उसके हाथ लग गई.

धोखे से चली गोली, सीने में धसी
सफाई कर्मचारी दीपक ने बताया कि वासिफ ड्राइवर सीट की तरफ खड़ा था जबकि रोहित उसके ठीक सामने विपरीत गेट का गेट खोलकर सफाई कर रहा था. वासिफ ने पिस्टल उठाकर खेल खेल में रोहित की तरफ तान दी और उसी दौरान लोड पिस्टल उसके हाथ से चल गई. पिस्टल से निकली गोली उसे रोहित के सीने में धंसी और वह घायल हो गया. घायल रोहित भाग कर वॉशिंग सेंटर के मैनेजर के पास पहुंचा और खुद को गोली मारने की बात कहीं. मैनेजर एक्टिवा स्कूल में घायल रोहित और वासिफ को बैठकर इलाज के लिए ट्रामा सेंटर लेकर पहुंचा. जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है.

जीशान ने छीनी पिस्टल, पहुंचा हॉस्पिटल
बेसमेंट की वाशिंग सेंटर में गोली चलने के बाद हर कोई सहम गया. वासिफ के हाथ में पिस्टल देख अंदर बैठे जिशान ने दौड़ कर उसके हाथ से पिस्टल छीनी और बिना पुलिस को सूचना दिए ही घायल रोहित का हाल लेने के लिए अपनी स्कार्पियो गाड़ी से सिविल हॉस्पिटल पहुंचा जहां उसे रोहित नहीं मिला. माल कर्मचारियों की सूचना पर चौकी इंचार्ज और हजरतगंज पुलिस मौके पर पहुंच गई. एसपी पूर्वी सर्वेश मिश्र, सीओ हजरतगंज अभय मिश्र ट्रामा सेंटर पहुंचे और घायल रोहित के परिजनों को हादसे की सूचना दी. रोहित की हालत गंभीर बताई जा रही है.