आगरा. राजस्थान में गुर्जर आन्दोलन के चलते आगरा मंडल में 25 फीसदी ट्रैफिक का बोझ बढ़ गया है. इसके चलते आगरा मंडल की ट्रेनों को पास होने में घंटों का समय लग रहा है. इससे पैसेंजर्स की मुश्किलें बढ़ गई हैं. आवागमन बाधित होने के साथ पैसे्रंजर्स को अपनी यात्रा स्थगित करनी पड़ रही है. सोमवार को आगरा कैंट और फोर्ट रेलवे स्टेशन से 1.72 लाख से भी ज्यादा आरक्षित और अनारक्षित टिकट वापस हुए.

आज बांदीकुई में होगा हंगामा

मंगलवार को बांदीकुई में बड़ा हंगामा होने की सूचना रेलवे के वरिष्ठ अफसरों को मिली है. इसको लेकर रेलवे के अफसर परेशान हैं. लगातार चार दिन ट्रेनें निरस्त और रूट बदलने से यात्री परेशान हो गए हैं. स्टेशन पर जाकर उन्हें पता चलता है कि उनकी ट्रेन निरस्त हो गई. ऐसे में उनके सामने गंतव्य तक पहुंचने में दिक्कत आ रही है. कोई बस से गया, तो किसी को यात्रा ही रद कर दी. अकेले आगरा कैंट स्टेशन से अनारक्षित श्रेणी के 15 हजार रुपये के टिकट वापस किए गए. वहीं आरक्षित श्रेणी के 1.05 लाख रुपये के टिकट वापस किए गए. वहीं आगरा फोर्ट से आरक्षित श्रेणी के 50 हजार रुपये से अधिक के टिकट यात्रियों ने वापस किए हैं.

वर्जन

गुर्जर आन्दोलन से आगरा मंडल पर 25 फीसदी ट्रैफिक का बोझ बढ़ गया है. कोटा-जयपुर रूट ज्यादा प्रभावित है. ट्रेनों को डायवर्ट कर निकाला जा रहा है.

डीके सिंह एडीआरएम आगरा मंडल