200 उम्मीदवार एएटी के बैनर तले चुनाव लड़ेंगे
इस्लामाबाद (पीटीआई)।
पाकिस्तान के चुनाव आयोग से झटका लगने के बाद मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) ने आम चुनाव लड़ने के लिए दूसरा उपाय ढूंढा है। उसने चुनाव में अपने उम्मीदवारों को एक अन्य दल अल्लाह-ओ-अकबर तहरीक (एएटी) के बैनर तले उतारने का फैसला किया है। बता दें कि चुनाव आयोग ने बुधवार को एमएमएल की पंजीकरण अर्जी दूसरी बार खारिज कर दी थी। इसी के मद्देनजर ऐसा फैसला लिया गया है। 'एक्सप्रेस ट्रिब्यून' के अनुसार, एमएमएल के करीब 200 उम्मीदवार एएटी के बैनर तले चुनाव लड़ेंगे। यह पार्टी चुनाव आयोग में पहले से पंजीकृत है।

सूची में 10वें स्थान पर है एएटी
गौरतलब है कि पाकिस्तान चुनाव आयोग की चार सदस्यीय पीठ ने गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के आधार पर एमएमएल का आवेदन खारिज कर दिया। पीठ ने अपने फैसले में कहा, यह पार्टी आतंकी संगठन जमात-उद-दावा प्रमुख सईद की विचारधारा पर चलती है। इसके बाद एमएमएल ने एलान किया कि चुनाव से पहले अगर सुप्रीम कोर्ट ने उसके पक्ष में फैसला नहीं सुनाया तो उसके उम्मीदवार एएटी के बैनर तले चुनाव लड़ेंगे। मियां एहसान बारी के नेतृत्व वाली एएटी कम जानी-पहचानी पार्टी है। यह चुनाव आयोग के मान्यता प्राप्त दलों की सूची में 10वें स्थान पर है।

'कुर्सी' चुनाव चिह्न आवंटित किया गया है
इसे 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव के लिए 'कुर्सी' चुनाव चिह्न आवंटित किया गया है। चुनाव आयोग ने एमएमएल को सियासी दल के रूप में मान्यता दिए जाने की अर्जी 2017 में भी खारिज कर दी थी। इसके बाद पार्टी हाई कोर्ट चली गई थी। उसकी अर्जी पर इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने चुनाव आयोग से पुनर्विचार के लिए कहा था।

पकिस्तान चुनाव आयोग को एक बार फिर कोर्ट में घसीटेगी हाफिज सईद की पार्टी

हाफि‍ज सईद पर अमरीका की नजरें टेढ़ी, यह रहे टॉप 5 आतंकी जिनकी उसे है तलाश

International News inextlive from World News Desk