'मोहल्ले का हाल'

इस रोड के बनने के लिए बजट तो हो गया है पास, नहीं मिल रहा है टेंडर, नाली और फुटपाथ भी निर्माण में शामिल

varanasi@inext.co.in

VARANASI

रोड, सीवर, पानी और सफाई, ये ही रोना है इस इलाके के लोगों का. वरुणापार इलाके का एक बड़ा बाजार यहीं पर लगता है. ये जगह है भोजूबीर से बसहीं-नटिनियादाई रोड. यहां के लोगों को ये याद नहीं है कि चार किमी की यह रोड कब पूरी बनी थी. रोड खराब होने के कारण पानी और सीवर भी लगातार परेशान करता रहता है.

भोजूबीर चौराहे से बसहीं की ओर जाने वाले रोड पर सब्जी मंडी, परचून, ज्वेलरी, कपड़े से लेकर कई तरह के सामान का एक बड़ा मार्केट है. लेकिन रोड ने मार्केट के लोगों को बड़ी चोट दी है. यहां से रोजाना गुजरने वाले हजारों लोग अपनी हड्डियां तुड़वाने को भी मजबूर है.

रोड बनने की आस बेमानी

यहां के व्यापारी और आम जनता को रोड बनने की आस बेमानी सी लग रही है. जितनी बार रोड बनी कुछ ही दिन तक चल पायी. इस बार इस रोड के लिए करीब पांच करोड़ रुपये का बजट बनाया गया है. जिसमें रोड, फुटपाथ और नाली निर्माण शामिल है.

बतायी जनता की परेशानी

इस एरिया में दो वॉर्ड है. सरसौली और दूसरा नारायणपुर. सरसौली वॉर्ड के पार्षद राजेंद्र पटेल ने बताया कि रोड, सीवर, सफाई और पानी ये रोज की समस्या है. इन्हें दूर करने की कोशिश की जाती है लेकिन जब हम प्रयास करते है नगर निगम या कोई संस्था खोदाई करके नयी समस्या पैदा कर देता है.

जनता से जरूरी और भी है काम

पार्षदों के पास जनता से जरूरी और भी काम होते है. जिन्हें निबटाने में ये व्यस्त रहते है. लोगों ने बताया कि ये पार्षद क्या काम करायेंगे इन्हें यहां की समस्या की जानकारी भी नहीं है. इस बारे में नारायणपुर वॉर्ड के पार्षद शिवशंकर यादव से बात की गयी तो जवाब भी कुछ ऐसा मिला जो जनता के आरोप को सही साबित कर रहा था. रोड निर्माण को लेकर उनका कहना है कि जल्द रोड बन जाएगी. बजट पास हो गया है. इसके आगे उन्होंने कोई बात करना जरूरी नहीं समझा.

ये रोड कब बनेगी कुछ समझ नहीं आता. बनती भी है तो महीने भर में टूट जाती है या तो कोई न कोई संस्था सीवर लाइन, पाईप बिछाने के नाम पर तोड़ने के लिए तैयार ही रहती है.

राकेश कुमार वर्मा 'गुड्डू', व्यापारी

सड़क खराब होने के कारण दुकानदारी खराब हो गयी है. कई बार शिकायत की गयी लेकिन प्रशासन रोड बना ही नहीं रही है. इसके कारण रोड जाम भी लगता है. वहीं धूल से लोगों को बहुत ज्यादा परेशानी होती है.

दीपक जायसवाल, व्यापारी

खस्ता हाल रोड पर चलने से गाड़ी के साथ हड्डियां तक डैमेज हो जा रही है. रोड पर धूल तो कोहरे की तरह छाया रहता है. इस रोड पर रोजाना दो से चार लोग गिरकर घायल होते है.

मांटी जायसवाल, निवासी

क्या बताया जाए? इस रोड का हाल. जब बनती है उसके कुछ ही दिन बाद खोदाई हो जाती है. व्यापार मंडल की ओर से कई बार प्रयास किया गया लेकिन प्रशासन सुनता ही नहीं है. लगता है इस रोड की नियति ही यही है.

राजेश गुप्ता, व्यापारी

भोजूबीर-नटिनियादाई रोड के लिए अभी तक टेंडर नहीं हुआ है. जैसे ही टेंडर हो जाएगा काम शुरू करा दिया जाएगा. उम्मीद है इस महीने से काम शुरू हो जाए.

कैलाश सिंह, चीफ इंजीनियर, नगर निगम