चार साल की एज से म्यूजिक सीख रही श्रेया घोषाल अपनी मदर के साथ हारमोनियम पर संगत करके गाया करती थीं और उनकी पहली गुरू और संगीत की दुनिया की साथी उनकी मां ही थीं. आज श्रेया का बर्थ डे है आइए तायें उनके बारे में कुछ मजेदार राज.
Shreya with husband
म्यूजिक टैलेंट शो बना लाइफ का टर्निंग प्वाइंट
श्रेया ने अपनी शुरूआत टीवी पर म्यूजिक टैलेंट हंट शो सारेगामा के चाइल्ड स्पेशल से की थी जिसे उन दिनों सोनू निगम होस्ट किया करते थे. जबकि फेमस म्यूजिक डायरेक्टर डुओ कल्याण जी आनंद जी में से एक कल्याण जी इस शो के जज थे. शो में जीत के बाद कल्याण जी की रिक्वेस्ट पर ही श्रेया के पेरेंटस उन्हें लेकर मुबई शिफ्ट हुए और उनके करियर की स्ट्रगल के साथी बने. इसी शो के एडल्ट सेगमट में गाने के दौरान ही उन्हें बॉलिवुड में डेब्यु करने का मौका मिला.

सरगम के स को पकड़ कर श्रेया को ढूंढा संजय लीला भंसाली ने
कहने का मतलब ये है कि जिस समय श्रेया टीवी पर म्यूजिक टैलेंट शो में गा रही थीं उसी समय फेमस फिल्ममेकर अपनी एंबीशियस फिल्म 'देवदास' के लिए एक फ्रेश और इनोसेंट वॉयस की तलाश में थे पर उन्हें कहीं कोई आवाज नहीं मिल रही थी और वे काफी परेशान थे. इसी दौरान एक दिन उनकी मदर टीवी पर श्रेया का शो देख रही थीं, अचानक संजय ने श्रेया की आवाज सुनी और उन्हें लगा कि उनकी तलाश पूरी हो गयी. श्रेया की वॉयस की मिठास में डूबे संजय श्रेया का नाम तो भूल गए बस उनके नाम के स को पकड़े हुए शो के सेट पर पहुंच गए, जहां सरगम के पहले शब्द जैसी सुरीली श्रेया उन्हें मिल गयीं. बस इस फिल्म के पांच गानों के लिए उन्होंने अपनी आवाज दी और पहली ही फिल्मं में बेस्ट प्ले बैक सिंगर फीमेल का नेशनल अवॉर्ड भी जीत लिया.

अमेरिका में होता है श्रेया घोषाल डे
श्रेया की आवाज का जादू सिर्फ देश में नहीं दुनियाभर में चलता है. सारी दुनिया में उनकी आवाज के दीवाने मौजूद हैं. यही वजह है जब 2010 में श्रेया एक कार्यक्रम में भाग लेने अमेरिका के ओहायो शहर में पहुंची तो लोगों में उनके लिए प्यार को देख कर वहां के गवर्नर ने उनके नाम से एक दिन सेलिब्रेट करने की घोषणा कर दी. तब से हर साल 26 जून को अमेरिकन सिटी ओहायो में श्रेया घोषाल डे मनाया जाता है.  

टीवी और रीजनल लेंग्वेज में भी गाए गाने
श्रेया ने 'कस्तूरी' जैसे टीवी सीरियल्स के लिए भी गाया है. इसके साथ ही उन्होंने असमिया, बंगाली, कन्नड़, मलयालम, मराठी, पंजाबी, तमिल औरतेलुगु जैसी रीजनल लेंग्वेजेस में भी गाने गाए हैं. और कई अवॉर्ड भी जीते हैं.  

श्रेया ने जीते हैं बेशुमार अवॉर्डस
अपने करीब दस साल के करियर में श्रेया ने कई अवॉर्डस जीते जिनमें डिफरेंट अवॉर्डस के अलावा नेशनल और स्टेट गवरन्मेंटस के अवॉर्ड भी शामिल हैं. ये हैं उनके कुछ खास अवार्ड.  

नेशनल फिल्म अवॉर्ड्स
2002: नेशनल फिल्म अवॉर्ड फॉर बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर - बैरी पिया (देवदास)
2006: नेशनल फिल्म अवॉर्ड फॉर बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर - धीरे जलना (पहेली)
2007: नेशनल फिल्म अवॉर्ड फॉर बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर - ये इश्क है (जब वी मेट)

फ़िल्मफ़ेयर अवॉर्ड्स
2003: फ़िल्मफ़ेयर आर॰ डी॰ बर्मन अवॉर्ड फॉर न्यु म्यूजिक टैलेंट
2003: फ़िल्मफ़ेयर बेस्ट फीमेल प्लेबैक अवॉर्ड (कविता कृष्णमूर्ति के साथ) - डोला रे (देवदास)
2004: फ़िल्मफ़ेयर बेस्ट फीमेल प्लेबैक अवॉर्ड - जादू है नशा है (जिस्म)
2008: फ़िल्मफ़ेयर बेस्ट फिमेल प्लेबैक अवॉर्ड - बरसो रे (गुरु)
2009: फ़िल्मफ़ेयर बेस्ट फीमेल प्लेबैक अवॉर्ड - तेरी ओर (सिंह इस किंग)

फ़िल्मफ़ेयर अवॉर्ड्स साउथ
2007: फ़िल्मफ़ेयर बेस्ट फीमेल प्लेबैक अवॉर्ड (तमिल)- मुन्बे वा (सीलुनु ओरु काढाल)
2008: फ़िल्मफ़ेयर बेस्ट फीमेल प्लेबैक अवॉर्ड (कन्न ड़) - निंना नोदालेंत्हू (मुस्सनजेमातु)

स्टेट फिल्म अवॉर्ड्स
2005: आंध्र प्रदेश स्टेट अवॉर्ड बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर- पिल्लागाली अल्लारी (अथाडू) और नीके नुवु (मोदाती सिनेमा) (तेलगु)
2007: तमिलनाडु स्टेट फिल्म अवॉर्ड फॉर बेस्ट फीमेल प्लेबैक- मुन्बे वा (सिल्लुनु ओरु काढाल) (तमिल)

Sderyas hit song

श्रेया के टॉप टेन सांग
श्रेया घोषाल ने अपने करियर में कई शानदार गाने गाए हैं. इन सांग्स के लिए उन्केंछ कई बार अवॉर्ड भी मिले हैं. अपनी ही फिल्म 'देवदास' के लिए उन्होंने अपना फर्स्ट  नेशनल अवॉर्ड जीत लिया था. ये हैं उनके टॉप टेन हिट सांग्स.
 
"बैरी पिया" फिल्म 'देवदास': ये पहला ही गाना श्रेया को शोहरत की बुलंदियों पर ले गया जहां से उन्हों ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा.

"डोला रे डोला" 'देवदास': इस गाने में भी श्रेया को ऐश्वर्या के लिए प्ले बैक करने का मौका मिला और गाना भी सुपर हिट हुआ. इस गाने में उन्होंने फेमस प्ले बैक सिंगर कविता कृष्णंमूर्ति के साथ डुएड गाया था.

"जादू है नशा है" फिल्म 'जिस्म': इस फिल्म में श्रेया ने बिपाशा बसु के लिए प्ले‍ बैक किया और फिल्म में उनके करेक्टर की तरह अपनी वॉयस की सिडेक्टिवनेस से लोगों नशे में डुबो दिया.

"बरसो रे मेघा" फिल्म 'गुरू': इस सांग में उन्हों ने एक बार फिर ऐश्वर्या के लिए अपनी आवाज दी और गाने की पूरी मस्ती उनकी आवाज से निकल कर सुनने वालों के दिल पर छा गयी.

"तेरी ओर" फिल्म 'सिंह इज किंग': इस गाने में पर्दे पर कैटरीना थी और प्यार में डूबे गाने के अहसास श्रेया की आवाज में पूरी तरह झलक रहे थे.
 
"पियु बोले" फिल्म 'परिणीता': विद्या बालन की इस डेब्यु फिल्म के इस गाने ने जैसे लोगों को उनका दीवाना बना दिया था और श्रेया की आवाज विद्या के लिए लक ओपनर बन गयी थी.

"पल पल हर पल" फिल्म 'लगे रहो मुन्ना भाई': शायद ये श्रेया की आवाज का ही असर था जो इस फिल्म में उन्हें विद्या के लिए प्ले बैक करने का चांस दिया गया और ये गाना भी लोगों को बेहद पसंद आया.

"चिकनी चमेली" फिल्म 'अग्निपथ': इस गाने को सुनने के बाद लोग खासे चौक गए थे. क्योंकि संजीदा और रुमानी गीत गाने वाली श्रेया ऐसे पैपी आइटम सांग्स भी गा सकती हैं ये बिलीव करना जरा मुश्किल था. पर कैटरीना के लटके झटकों को पर्दे पर और नशीला बनाने में उनके गाए इस गाने का सबसे बड़ा योगदान था.

"ऊ लाला ऊ लाला" फिल्म 'डर्टी पिक्चर': वि़द्या को यकीन हो गया था कि श्रेया की आवाज जादू ही उन्हें हर बार कामयाब बनाएगा. खास कर तब जब बात किसी टर्निंग प्वाइंट की हो तो. वैसे ये गाना श्रेया के लिए भी टर्निंग प्वाइंट था. 'चिकनी चमेली' के बाद उन्होंने फिर एक पैपी हॉट नंबर सलेक्ट किया था और वो भी ऐसे ट्रैक्स के एक्सपर्ट बप्पी लहरी के साथ.

"मैं तैनु समझांवां की" फिल्म 'हमप्टी् शर्मा की दुल्हनिया': एक बार फिर श्रेया की मीठी रुह को सुकून देने वाली आवाज का जादू लोगों के सर चढ़ कर बोला और फिल्म का ये गाना सुपर हिट हो गया.

Hindi News from Bollywood News Desk

 

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk